CollegeDekho

Frequently Search

Couldn’t find the answer? Post your query here

  • अन्य आर्टिकल्स

हिंदी में निबंध (Essay in Hindi/ Hindi me Nibandh) - परिभाषा, प्रकार, टॉपिक्स और निबंध लिखने का तरीका जानें

Updated On: September 29, 2023 12:22 pm IST

निबंध किसे कहते हैं? (What is Essay?)

निबंध की परिभाषा (definition of essay in hindi), निबंध के कितने अंग होते हैं .

  • निबंध कितने प्रकार का होता है (Types of Essay in …

हिंदी में निबंध (Essay in Hindi/ Hindi me Nibandh)

निबंध कितने प्रकार का होता है (Types of Essay in Hindi )

हिंदी में निबंध (essay in hindi) लिखते समय निम्नलिखित बातों पर ध्यान देना चाहिए-.

  • निबंध लिखना शुरू करने से पहले संबंधित विषय के बारे में जानकारी इकठ्ठा कर लें। 
  • कोशीश करें कि विचार क्रमबद्ध रूप से लिखे जाएं और उनमे सभी महत्वपूर्ण बिंदु शामिल हों। 
  • निबंध को सरल भाषा में लिखने का प्रयास करें और रोचक बनाएं। 
  • निबंध में उपयोग किए गए शब्द छोटे और प्रभावशाली होने चाहिए। 

Are you feeling lost and unsure about what career path to take after completing 12th standard?

Say goodbye to confusion and hello to a bright future!

क्या यह लेख सहायक था ?

सबसे पहले जाने.

लेटेस्ट अपडेट प्राप्त करें

क्या आपके कोई सवाल हैं? हमसे पूछें.

24-48 घंटों के बीच सामान्य प्रतिक्रिया

व्यक्तिगत प्रतिक्रिया प्राप्त करें

बिना किसी मूल्य के

समुदाय तक पहुंचे

समरूप आर्टिकल्स

  • मदर्स डे पर निबंध (Mothers Day Essay in Hindi): मातृ दिवस पर हिंदी में निबंध
  • शिक्षक दिवस पर निबंध (Teachers Day Essay in Hindi) - टीचर्स डे पर 200, 500 शब्दों में हिंदी में निबंध देखें
  • दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) में साउथ कैंपस कॉलेजों की लिस्ट (List of South Campus Colleges in DU): चेक करें टॉप 10 रैंकिंग
  • लेक्चरर बनने के लिए करियर पथ (Career Path to Become a Lecturer): योग्यता, प्रवेश परीक्षा और पैटर्न
  • KVS एडमिशन लिस्ट 2024-25 (प्रथम, द्वितीय, तृतीय) की जांच कैसे चेक करें (How to Check KVS Admission List 2024-25How to Check KVS Admission List 2024-25 (1st, 2nd, 3rd): डायरेक्ट लिंक, लेटेस्ट अपडेट, क्लास 1 उच्च कक्षा के लिए स्टेप्स
  • 2024 के लिए भारत में फर्जी विश्वविद्यालयों की नई लिस्ट (Fake Universities in India): कहीं भी एडमिशन से पहले देख लें ये सूची

नवीनतम आर्टिकल्स

  • 100% जॉब प्लेसमेंट वाले टॉप इंस्टिट्यूट (Top Institutes With 100% Job Placements): हाई पैकेज, टॉप रिक्रूटर यहां दखें
  • हरियाणा पॉलिटेक्निक परीक्षा 2024 (Haryana Polytechnic Exam 2024): यहां चेक करें संबंधित तारीखें, परीक्षा पैटर्न और काउंसलिंग प्रोसेस
  • यूपी पुलिस सिलेबस 2024 (UP Police Syllabus 2024 in Hindi) - सिपाही, हेड कांस्टेबल भर्ती पाठ्यक्रम हिंदी में देखें
  • 10वीं के बाद डिप्लोमा कोर्स (Diploma Courses After 10th): मैट्रिक के बाद बेस्ट डिप्लोमा कोर्स, एडमिशन, फीस और कॉलेज की लिस्ट देखें
  • पर्यावरण दिवस पर निबंध (Essay on Environment Day in Hindi) - विश्व पर्यावरण दिवस पर हिंदी में निबंध कैसे लिखें
  • भारत में पुलिस रैंक (Police Ranks in India): बैज, स्टार और वेतन वाले पुलिस पद जानें
  • जेएनवीएसटी रिजल्ट 2024 (JNVST Result 2024): नवोदय विद्यालय कक्षा 6वीं और 9वीं का रिजल्‍ट
  • 10वीं के बाद सरकारी नौकरियां (Government Jobs After 10th) - जॉब लिस्ट, योग्यता, भर्ती और चयन प्रक्रिया की जांच करें
  • 10वीं के बाद आईटीआई कोर्स (ITI Courses After 10th in India) - एडमिशन प्रोसेस, टॉप कॉलेज, फीस, जॉब स्कोप जानें
  • यूपीएससी सीएसई मेन्स पासिंग मार्क्स 2024 (UPSC CSE Mains Passing Marks 2024)

नवीनतम समाचार

  • CBSE 12th टॉपर्स 2024 लिस्ट: राज्य और स्ट्रीम-वार टॉपर के नाम, मार्क्स प्रतिशत देखें
  • CBSE 12th रिजल्ट 2024 लिंक एक्टिव: आसानी से डाउनलोड करें इंटर की मार्कशीट
  • MP Board 10th Toppers 2024 List Available: MPBSE 10वीं के डिस्ट्रिक्ट वाइज टॉपर्स की लिस्ट देखें

ट्रेंडिंग न्यूज़

पीएचडी एंट्रेंस एग्जाम (PhD Entrance Exam): पीएचडी एडमिशन 2024, डेट, पात्रता, शुल्क, एप्लीकेशन प्रोसेस

Subscribe to CollegeDekho News

  • Select Stream Engineering Management Medical Commerce and Banking Information Technology Arts and Humanities Design Hotel Management Physical Education Science Media and Mass Communication Vocational Law Others Education Paramedical Agriculture Nursing Pharmacy Dental Performing Arts
  • Select Program Type UG PG Diploma Ph.D Certificate

कॉलेजदेखो के विशेषज्ञ आपकी सभी शंकाओं में आपकी मदद कर सकते हैं

  • Enter a Valid Name
  • Enter a Valid Mobile
  • Enter a Valid Email
  • Select Level UG PG Diploma Ph.D Certificate
  • By proceeding ahead you expressly agree to the CollegeDekho terms of use and privacy policy

शामिल हों और विशेष शिक्षा अपडेट प्राप्त करें !

Details Saved

essay writing definition in hindi

Your College Admissions journey has just begun !

Try our AI-powered College Finder. Feed in your preferences, let the AI match them against millions of data points & voila! you get what you are looking for, saving you hours of research & also earn rewards

For every question answered, you get a REWARD POINT that can be used as a DISCOUNT in your CAF fee. Isn’t that great?

1 Reward Point = 1 Rupee

Basis your Preference we have build your recommendation.

  • CBSE Class 10th

CBSE Class 12th

  • UP Board 10th
  • UP Board 12th
  • Bihar Board 10th
  • Bihar Board 12th
  • Top Schools in India
  • Top Schools in Delhi
  • Top Schools in Mumbai
  • Top Schools in Chennai
  • Top Schools in Hyderabad
  • Top Schools in Kolkata
  • Top Schools in Pune
  • Top Schools in Bangalore

Products & Resources

  • JEE Main Knockout April
  • Free Sample Papers
  • Free Ebooks
  • NCERT Notes

NCERT Syllabus

  • NCERT Books
  • RD Sharma Solutions
  • Navodaya Vidyalaya Admission 2024-25

NCERT Solutions

  • NCERT Solutions for Class 12
  • NCERT Solutions for Class 11
  • NCERT solutions for Class 10
  • NCERT solutions for Class 9
  • NCERT solutions for Class 8
  • NCERT Solutions for Class 7
  • JEE Main 2024
  • MHT CET 2024
  • JEE Advanced 2024
  • BITSAT 2024
  • View All Engineering Exams
  • Colleges Accepting B.Tech Applications
  • Top Engineering Colleges in India
  • Engineering Colleges in India
  • Engineering Colleges in Tamil Nadu
  • Engineering Colleges Accepting JEE Main
  • Top IITs in India
  • Top NITs in India
  • Top IIITs in India
  • JEE Main College Predictor
  • JEE Main Rank Predictor
  • MHT CET College Predictor
  • AP EAMCET College Predictor
  • GATE College Predictor
  • KCET College Predictor
  • JEE Advanced College Predictor
  • View All College Predictors
  • JEE Main Question Paper
  • JEE Main Cutoff
  • JEE Main Advanced Admit Card
  • AP EAPCET Hall Ticket
  • Download E-Books and Sample Papers
  • Compare Colleges
  • B.Tech College Applications
  • KCET Result
  • MAH MBA CET Exam
  • View All Management Exams

Colleges & Courses

  • MBA College Admissions
  • MBA Colleges in India
  • Top IIMs Colleges in India
  • Top Online MBA Colleges in India
  • MBA Colleges Accepting XAT Score
  • BBA Colleges in India
  • XAT College Predictor 2024
  • SNAP College Predictor
  • NMAT College Predictor
  • MAT College Predictor 2024
  • CMAT College Predictor 2024
  • CAT Percentile Predictor 2023
  • CAT 2023 College Predictor
  • CMAT 2024 Admit Card
  • TS ICET 2024 Hall Ticket
  • CMAT Result 2024
  • MAH MBA CET Cutoff 2024
  • Download Helpful Ebooks
  • List of Popular Branches
  • QnA - Get answers to your doubts
  • IIM Fees Structure
  • AIIMS Nursing
  • Top Medical Colleges in India
  • Top Medical Colleges in India accepting NEET Score
  • Medical Colleges accepting NEET
  • List of Medical Colleges in India
  • List of AIIMS Colleges In India
  • Medical Colleges in Maharashtra
  • Medical Colleges in India Accepting NEET PG
  • NEET College Predictor
  • NEET PG College Predictor
  • NEET MDS College Predictor
  • NEET Rank Predictor
  • DNB PDCET College Predictor
  • NEET Admit Card 2024
  • NEET PG Application Form 2024
  • NEET Cut off
  • NEET Online Preparation
  • Download Helpful E-books
  • Colleges Accepting Admissions
  • Top Law Colleges in India
  • Law College Accepting CLAT Score
  • List of Law Colleges in India
  • Top Law Colleges in Delhi
  • Top NLUs Colleges in India
  • Top Law Colleges in Chandigarh
  • Top Law Collages in Lucknow

Predictors & E-Books

  • CLAT College Predictor
  • MHCET Law ( 5 Year L.L.B) College Predictor
  • AILET College Predictor
  • Sample Papers
  • Compare Law Collages
  • Careers360 Youtube Channel
  • CLAT Syllabus 2025
  • CLAT Previous Year Question Paper
  • NID DAT Exam
  • Pearl Academy Exam

Predictors & Articles

  • NIFT College Predictor
  • UCEED College Predictor
  • NID DAT College Predictor
  • NID DAT Syllabus 2025
  • NID DAT 2025
  • Design Colleges in India
  • Top NIFT Colleges in India
  • Fashion Design Colleges in India
  • Top Interior Design Colleges in India
  • Top Graphic Designing Colleges in India
  • Fashion Design Colleges in Delhi
  • Fashion Design Colleges in Mumbai
  • Top Interior Design Colleges in Bangalore
  • NIFT Result 2024
  • NIFT Fees Structure
  • NIFT Syllabus 2025
  • Free Design E-books
  • List of Branches
  • Careers360 Youtube channel
  • IPU CET BJMC
  • JMI Mass Communication Entrance Exam
  • IIMC Entrance Exam
  • Media & Journalism colleges in Delhi
  • Media & Journalism colleges in Bangalore
  • Media & Journalism colleges in Mumbai
  • List of Media & Journalism Colleges in India
  • CA Intermediate
  • CA Foundation
  • CS Executive
  • CS Professional
  • Difference between CA and CS
  • Difference between CA and CMA
  • CA Full form
  • CMA Full form
  • CS Full form
  • CA Salary In India

Top Courses & Careers

  • Bachelor of Commerce (B.Com)
  • Master of Commerce (M.Com)
  • Company Secretary
  • Cost Accountant
  • Charted Accountant
  • Credit Manager
  • Financial Advisor
  • Top Commerce Colleges in India
  • Top Government Commerce Colleges in India
  • Top Private Commerce Colleges in India
  • Top M.Com Colleges in Mumbai
  • Top B.Com Colleges in India
  • IT Colleges in Tamil Nadu
  • IT Colleges in Uttar Pradesh
  • MCA Colleges in India
  • BCA Colleges in India

Quick Links

  • Information Technology Courses
  • Programming Courses
  • Web Development Courses
  • Data Analytics Courses
  • Big Data Analytics Courses
  • RUHS Pharmacy Admission Test
  • Top Pharmacy Colleges in India
  • Pharmacy Colleges in Pune
  • Pharmacy Colleges in Mumbai
  • Colleges Accepting GPAT Score
  • Pharmacy Colleges in Lucknow
  • List of Pharmacy Colleges in Nagpur
  • GPAT Result
  • GPAT 2024 Admit Card
  • GPAT Question Papers
  • NCHMCT JEE 2024
  • Mah BHMCT CET
  • Top Hotel Management Colleges in Delhi
  • Top Hotel Management Colleges in Hyderabad
  • Top Hotel Management Colleges in Mumbai
  • Top Hotel Management Colleges in Tamil Nadu
  • Top Hotel Management Colleges in Maharashtra
  • B.Sc Hotel Management
  • Hotel Management
  • Diploma in Hotel Management and Catering Technology

Diploma Colleges

  • Top Diploma Colleges in Maharashtra
  • UPSC IAS 2024
  • SSC CGL 2024
  • IBPS RRB 2024
  • Previous Year Sample Papers
  • Free Competition E-books
  • Sarkari Result
  • QnA- Get your doubts answered
  • UPSC Previous Year Sample Papers
  • CTET Previous Year Sample Papers
  • SBI Clerk Previous Year Sample Papers
  • NDA Previous Year Sample Papers

Upcoming Events

  • NDA Application Form 2024
  • UPSC IAS Application Form 2024
  • CDS Application Form 2024
  • CTET Admit card 2024
  • HP TET Result 2023
  • SSC GD Constable Admit Card 2024
  • UPTET Notification 2024
  • SBI Clerk Result 2024

Other Exams

  • SSC CHSL 2024
  • UP PCS 2024
  • UGC NET 2024
  • RRB NTPC 2024
  • IBPS PO 2024
  • IBPS Clerk 2024
  • IBPS SO 2024
  • Top University in USA
  • Top University in Canada
  • Top University in Ireland
  • Top Universities in UK
  • Top Universities in Australia
  • Best MBA Colleges in Abroad
  • Business Management Studies Colleges

Top Countries

  • Study in USA
  • Study in UK
  • Study in Canada
  • Study in Australia
  • Study in Ireland
  • Study in Germany
  • Study in China
  • Study in Europe

Student Visas

  • Student Visa Canada
  • Student Visa UK
  • Student Visa USA
  • Student Visa Australia
  • Student Visa Germany
  • Student Visa New Zealand
  • Student Visa Ireland
  • CUET PG 2024
  • IGNOU B.Ed Admission 2024
  • DU Admission 2024
  • UP B.Ed JEE 2024
  • LPU NEST 2024
  • IIT JAM 2024
  • IGNOU Online Admission 2024
  • Universities in India
  • Top Universities in India 2024
  • Top Colleges in India
  • Top Universities in Uttar Pradesh 2024
  • Top Universities in Bihar
  • Top Universities in Madhya Pradesh 2024
  • Top Universities in Tamil Nadu 2024
  • Central Universities in India
  • CUET Exam City Intimation Slip 2024
  • IGNOU Date Sheet
  • CUET Mock Test 2024
  • CUET Admit card 2024
  • CUET PG Syllabus 2024
  • CUET Participating Universities 2024
  • CUET Previous Year Question Paper
  • CUET Syllabus 2024 for Science Students
  • E-Books and Sample Papers
  • CUET Exam Pattern 2024
  • CUET Exam Date 2024
  • CUET Syllabus 2024
  • IGNOU Exam Form 2024
  • IGNOU Result
  • CUET 2024 Admit Card

Engineering Preparation

  • Knockout JEE Main 2024
  • Test Series JEE Main 2024
  • JEE Main 2024 Rank Booster

Medical Preparation

  • Knockout NEET 2024
  • Test Series NEET 2024
  • Rank Booster NEET 2024

Online Courses

  • JEE Main One Month Course
  • NEET One Month Course
  • IBSAT Free Mock Tests
  • IIT JEE Foundation Course
  • Knockout BITSAT 2024
  • Career Guidance Tool

Top Streams

  • IT & Software Certification Courses
  • Engineering and Architecture Certification Courses
  • Programming And Development Certification Courses
  • Business and Management Certification Courses
  • Marketing Certification Courses
  • Health and Fitness Certification Courses
  • Design Certification Courses

Specializations

  • Digital Marketing Certification Courses
  • Cyber Security Certification Courses
  • Artificial Intelligence Certification Courses
  • Business Analytics Certification Courses
  • Data Science Certification Courses
  • Cloud Computing Certification Courses
  • Machine Learning Certification Courses
  • View All Certification Courses
  • UG Degree Courses
  • PG Degree Courses
  • Short Term Courses
  • Free Courses
  • Online Degrees and Diplomas
  • Compare Courses

Top Providers

  • Coursera Courses
  • Udemy Courses
  • Edx Courses
  • Swayam Courses
  • upGrad Courses
  • Simplilearn Courses
  • Great Learning Courses

हिंदी निबंध (Hindi Nibandh / Essay in Hindi) - हिंदी निबंध लेखन, हिंदी निबंध 100, 200, 300, 500 शब्दों में

हिंदी में निबंध (Essay in Hindi) - छात्र जीवन में विभिन्न विषयों पर हिंदी निबंध (essay in hindi) लिखने की आवश्यकता होती है। हिंदी निबंध लेखन (essay writing in hindi) के कई फायदे हैं। हिंदी निबंध से किसी विषय से जुड़ी जानकारी को व्यवस्थित रूप देना आ जाता है तथा विचारों को अभिव्यक्त करने का कौशल विकसित होता है। हिंदी निबंध (hindi nibandh) लिखने की गतिविधि से इन विषयों पर छात्रों के ज्ञान के दायरे का विस्तार होता है जो कि शिक्षा के अहम उद्देश्यों में से एक है। हिंदी में निबंध या लेख लिखने से विषय के बारे में समालोचनात्मक दृष्टिकोण विकसित होता है। साथ ही अच्छा हिंदी निबंध (hindi nibandh) लिखने पर अंक भी अच्छे प्राप्त होते हैं। इसके अलावा हिंदी निबंध (hindi nibandh) किसी विषय से जुड़े आपके पूर्वाग्रहों को दूर कर सटीक जानकारी प्रदान करते हैं जिससे अज्ञानता की वजह से हम लोगों के सामने शर्मिंदा होने से बच जाते हैं।

आइए सबसे पहले जानते हैं कि हिंदी में निबंध की परिभाषा (definition of essay) क्या होती है?

हिंदी निबंध (hindi nibandh) : निबंध के अंग कौन-कौन से होते हैं, हिंदी निबंध (hindi nibandh) : निबंध के प्रकार (types of essay), हिंदी निबंध (hindi nibandh) : निबंध में उद्धरण का महत्व, मजदूर दिवस पर निबंध (labour day essay in hindi) - 10 लाइन, 300 शब्द, संक्षिप्त भाषण, सुभाष चंद्र बोस पर निबंध (subhash chandra bose essay in hindi), गणतंत्र दिवस पर निबंध (republic day essay in hindi), गणतंत्र दिवस पर भाषण (republic day speech in hindi), मोबाइल फोन पर निबंध (essay on mobile phone in hindi), हिंदी दिवस पर निबंध (essay on hindi diwas in hindi), मकर संक्रांति पर निबंध (essay on makar sankranti in hindi), ग्लोबल वार्मिंग पर निबंध - कारण और समाधान (global warming essay in hindi), भारत में भ्रष्टाचार पर निबंध (corruption in india essay in hindi), गुरु नानक जयंती पर निबंध (essay on guru nanak jayanti in hindi), मेरा पालतू कुत्ता पर निबंध ( my pet dog essay in hindi), स्वामी विवेकानंद पर निबंध ( swami vivekananda essay in hindi), महिला सशक्तीकरण पर निबंध (women empowerment essay), भगत सिंह निबंध (bhagat singh essay in hindi), वसुधैव कुटुंबकम् पर निबंध (vasudhaiva kutumbakam essay), गाय पर निबंध (essay on cow in hindi), क्रिसमस पर निबंध (christmas in hindi), रक्षाबंधन पर निबंध (rakshabandhan par nibandh), होली का निबंध (essay on holi in hindi), विजयदशमी अथवा दशहरा पर हिंदी में निबंध (essay in hindi on dussehra or vijayadashmi), दिवाली पर हिंदी में निबंध (essay in hindi on diwali), बाल दिवस पर हिंदी में भाषण (children’s day speech in hindi), हिंदी दिवस पर भाषण (hindi diwas speech), हिंदी दिवस पर कविता (hindi diwas poem), स्वतंत्रता दिवस पर निबंध (independence day essay), प्रदूषण पर निबंध (essay on pollution in hindi), वायु प्रदूषण पर हिंदी में निबंध (essay in hindi on air pollution), जलवायु परिवर्तन पर हिंदी में निबंध (essay in hindi on climate change), पर्यावरण दिवस पर निबंध (essay on environment day in hindi), मेरा प्रिय खेल पर निबंध (essay on my favourite game in hindi), विज्ञान के चमत्कार पर निबंध (wonder of science essay in hindi), शिक्षक दिवस पर निबंध (teachers day essay in hindi), अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर निबंध (essay on international women’s day in hindi), बाल श्रम पर निबंध (child labour essay in hindi), मेरा प्रिय नेता: एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध (apj abdul kalam essay in hindi), मेरा प्रिय मित्र (my best friend nibandh), सरोजिनी नायडू पर निबंध (sarojini naidu essay in hindi).

हिंदी निबंध (Hindi Nibandh / Essay in Hindi) - हिंदी निबंध लेखन, हिंदी निबंध 100, 200, 300, 500 शब्दों में

कुछ सामान्य विषयों (common topics) पर जानकारी जुटाने में छात्रों की सहायता करने के उद्देश्य से हमने हिंदी में निबंध (Essay in Hindi) और भाषणों के रूप में कई लेख तैयार किए हैं। स्कूली छात्रों (कक्षा 1 से 12 तक) एवं प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी में लगे विद्यार्थियों के लिए उपयोगी हिंदी निबंध (hindi nibandh), भाषण तथा कविता (useful essays, speeches and poems) से उनको बहुत मदद मिलेगी तथा उनके ज्ञान के दायरे में विस्तार होगा। ऐसे में यदि कभी परीक्षा में इससे संबंधित निबंध आ जाए या भाषण देना होगा, तो छात्र उन परिस्थितियों / प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन कर पाएँगे।

महत्वपूर्ण लेख :

  • 10वीं के बाद लोकप्रिय कोर्स
  • 12वीं के बाद लोकप्रिय कोर्स
  • क्या एनसीईआरटी पुस्तकें जेईई मेन की तैयारी के लिए काफी हैं?
  • कक्षा 9वीं से नीट की तैयारी कैसे करें

छात्र जीवन प्रत्येक व्यक्ति के जीवन के सबसे सुनहरे समय में से एक होता है जिसमें उसे बहुत कुछ सीखने को मिलता है। वास्तव में जीवन की आपाधापी और चिंताओं से परे मस्ती से भरा छात्र जीवन ज्ञान अर्जित करने को समर्पित होता है। छात्र जीवन में अर्जित ज्ञान भावी जीवन तथा करियर के लिए सशक्त आधार तैयार करने का काम करता है। नींव जितनी अच्छी और मजबूत होगी उस पर तैयार होने वाला भवन भी उतना ही मजबूत होगा और जीवन उतना ही सुखद और चिंतारहित होगा। इसे देखते हुए स्कूलों में शिक्षक छात्रों को विषयों से संबंधित अकादमिक ज्ञान से लैस करने के साथ ही विभिन्न प्रकार की पाठ्येतर गतिविधियों के जरिए उनके ज्ञान के दायरे का विस्तार करने का प्रयास करते हैं। इन पाठ्येतर गतिविधियों में समय-समय पर हिंदी निबंध (hindi nibandh) या लेख और भाषण प्रतियोगिताओं का आयोजन करना शामिल है।

करियर संबंधी महत्वपूर्ण लेख :

  • डॉक्टर कैसे बनें?
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें
  • इंजीनियर कैसे बन सकते हैं?

निबंध, गद्य विधा की एक लेखन शैली है। हिंदी साहित्य कोष के अनुसार निबंध ‘किसी विषय या वस्तु पर उसके स्वरूप, प्रकृति, गुण-दोष आदि की दृष्टि से लेखक की गद्यात्मक अभिव्यक्ति है।’ एक अन्य परिभाषा में सीमित समय और सीमित शब्दों में क्रमबद्ध विचारों की अभिव्यक्ति को निबंध की संज्ञा दी गई है। इस तरह कह सकते हैं कि मोटे तौर पर किसी विषय पर अपने विचारों को लिखकर की गई अभिव्यक्ति ही निबंध है।

अन्य महत्वपूर्ण लेख :

  • हिंदी दिवस पर भाषण
  • हिंदी दिवस पर कविता
  • हिंदी पत्र लेखन

आइए अब जानते हैं कि निबंध के कितने अंग होते हैं और इन्हें किस प्रकार प्रभावपूर्ण ढंग से लिखकर आकर्षक बनाया जा सकता है। किसी भी हिंदी निबंध (Essay in hindi) के मोटे तौर पर तीन भाग होते हैं। ये हैं - प्रस्तावना या भूमिका, विषय विस्तार और उपसंहार।

प्रस्तावना (भूमिका)- हिंदी निबंध के इस हिस्से में विषय से पाठकों का परिचय कराया जाता है। निबंध की भूमिका या प्रस्तावना, इसका बेहद अहम हिस्सा होती है। जितनी अच्छी भूमिका होगी पाठकों की रुचि भी निबंध में उतनी ही अधिक होगी। प्रस्तावना छोटी और सटीक होनी चाहिए ताकि पाठक संपूर्ण हिंदी लेख (hindi me lekh) पढ़ने को प्रेरित हों और जुड़ाव बना सकें।

विषय विस्तार- निबंध का यह मुख्य भाग होता है जिसमें विषय के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाती है। इसमें इसके सभी संभव पहलुओं की जानकारी दी जाती है। हिंदी निबंध (hindi nibandh) के इस हिस्से में अपने विचारों को सिलसिलेवार ढंग से लिखकर अभिव्यक्त करने की खूबी का प्रदर्शन करना होता है।

उपसंहार- निबंध का यह अंतिम भाग होता है, इसमें हिंदी निबंध (hindi nibandh) के विषय पर अपने विचारों का सार रखते हुए पाठक के सामने निष्कर्ष रखा जाता है।

ये भी देखें :

अग्निपथ योजना रजिस्ट्रेशन

अग्निपथ योजना एडमिट कार्ड

अग्निपथ योजना सिलेबस

अंत में यह जानना भी अत्यधिक आवश्यक है कि निबंध कितने प्रकार के होते हैं। मोटे तौर निबंध को निम्नलिखित श्रेणियों में रखा जाता है-

वर्णनात्मक निबंध - इस तरह के निबंधों में किसी घटना, वस्तु, स्थान, यात्रा आदि का वर्णन किया जाता है। इसमें त्योहार, यात्रा, आयोजन आदि पर लेखन शामिल है। इनमें घटनाओं का एक क्रम होता है और इस तरह के निबंध लिखने आसान होते हैं।

विचारात्मक निबंध - इस तरह के निबंधों में मनन-चिंतन की अधिक आवश्यकता होती है। अक्सर ये किसी समस्या – सामाजिक, राजनीतिक या व्यक्तिगत- पर लिखे जाते हैं। विज्ञान वरदान या अभिशाप, राष्ट्रीय एकता की समस्या, बेरोजगारी की समस्या आदि ऐसे विषय हो सकते हैं। इन हिंदी निबंधों (hindi nibandh) में विषय के अच्छे-बुरे पहलुओं पर विचार व्यक्त किया जाता है और समस्या को दूर करने के उपाय भी सुझाए जाते हैं।

भावात्मक निबंध - ऐसे निबंध जिनमें भावनाओं को व्यक्त करने की अधिक स्वतंत्रता होती है। इनमें कल्पनाशीलता के लिए अधिक छूट होती है। भाव की प्रधानता के कारण इन निबंधों में लेखक की आत्मीयता झलकती है। मेरा प्रिय मित्र, यदि मैं डॉक्टर होता जैसे विषय इस श्रेणी में रखे जा सकते हैं।

इसके साथ ही विषय वस्तु की दृष्टि से भी निबंधों को सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक, खेल, विज्ञान और प्रौद्योगिकी जैसी बहुत सी श्रेणियों में बाँटा जा सकता है।

ये भी पढ़ें-

  • केंद्रीय विद्यालय एडमिशन
  • नवोदय कक्षा 6 प्रवेश
  • एनवीएस एडमिशन कक्षा 9

जिस प्रकार बातचीत को आकर्षक और प्रभावी बनाने के लिए लोग मुहावरे, लोकोक्तियों, सूक्तियों, दोहों, कविताओं आदि की मदद लेते हैं, ठीक उसी तरह निबंध को भी प्रभावी बनाने के लिए इनकी सहायता ली जानी चाहिए। उदाहरण के लिए मित्रता पर हिंदी निबंध (hindi nibandh) लिखते समय तुलसीदास जी की इन पंक्तियों की मदद ले सकते हैं -

जे न मित्र दुख होंहि दुखारी, तिन्हिं बिलोकत पातक भारी।

यानि कि जो व्यक्ति मित्र के दुख से दुखी नहीं होता है, उनको देखने से बड़ा पाप होता है।

हिंदी या मातृभाषा पर निबंध लिखते समय भारतेंदु हरिश्चंद्र की पंक्तियों का प्रयोग करने से चार चाँद लग जाएगा-

निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल

बिन निज भाषा-ज्ञान के, मिटत न हिय को सूल।

प्रासंगिकता और अपने विवेक के अनुसार लेखक निबंधों में ऐसी सामग्री का उपयोग निबंध को प्रभावी बनाने के लिए कर सकते हैं। इनका भंडार तैयार करने के लिए जब कभी कोई पंक्ति या उद्धरण अच्छा लगे, तो एकत्रित करते रहें और समय-समय पर इनको दोहराते रहें।

उपरोक्त सभी प्रारूपों का उपयोग कर छात्रों के लिए हमने निम्नलिखित हिंदी में निबंध (Essay in Hindi) तैयार किए हैं -

दुनिया के कई देशों में मजदूरों और श्रमिकों को सम्मान देने के उद्देश्य से हर वर्ष 1 मई को मजदूर दिवस मनाया जाता है। इसे लेबर डे, श्रमिक दिवस या मई डे भी कहा जाता है। श्रम दिवस एक विशेष दिन है जो मजदूरों और श्रम वर्ग को समर्पित है। यह मजदूरों की कड़ी मेहनत को सम्मानित करने का दिन है। ज्यादातर देशों में इसे 1 मई को अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस के रूप में मनाया जाता है। श्रम दिवस का इतिहास और उत्पत्ति अलग-अलग देशों में अलग-अलग है। विद्यार्थियों को कक्षा में मजदूर दिवस पर निबंध लिखने, मजदूर दिवस पर भाषण देने के लिए कहा जाता है। इस निबंध की मदद से विद्यार्थी अपनी तैयारी कर सकते हैं।

सुभाष चंद्र बोस ने ब्रिटिश शासन के खिलाफ भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। सुभाष चंद्र बोस भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (आईएनसी) के नेता थे और बाद में उन्होंने फॉरवर्ड ब्लॉक का गठन किया। इसके माध्यम से भारत में सभी ब्रिटिश विरोधी ताकतों को एकजुट करने की पहल की थी। बोस ब्रिटिश सरकार के मुखर आलोचक थे और स्वतंत्रता प्राप्त करने के लिए और अधिक आक्रामक कार्रवाई की वकालत करते थे। विद्यार्थियों को अक्सर कक्षा और परीक्षा में सुभाष चंद्र बोस जयंती (subhash chandra bose jayanti) या सुभाष चंद्र बोस पर हिंदी में निबंध (subhash chandra bose essay in hindi) लिखने को कहा जाता है। यहां सुभाष चंद्र बोस पर 100, 200 और 500 शब्दों का निबंध दिया गया है।

भारत में 26 जनवरी 1950 को संविधान लागू हुआ। इस दिन को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है। गणतंत्र दिवस के सम्मान में स्कूलों में विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होते हैं। गणतंत्र दिवस के दिन सभी स्कूलों, सरकारी व गैर सरकारी दफ्तरों में झंडोत्तोलन होता है। राष्ट्रगान गाया जाता है। मिठाईयां बांटी जाती है और अवकाश रहता है। छात्रों और बच्चों के लिए 100, 200 और 500 शब्दों में गणतंत्र दिवस पर निबंध पढ़ें।

26 जनवरी, 1950 को हमारे देश का संविधान लागू किया गया, इसमें भारत को गणतांत्रिक व्यवस्था वाला देश बनाने की राह तैयार की गई। गणतंत्र दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में भाषण (रिपब्लिक डे स्पीच) देने के लिए हिंदी भाषण की उपयुक्त सामग्री (Republic Day Speech Ideas) की यदि आपको भी तलाश है तो समझ लीजिए कि गणतंत्र दिवस पर भाषण (Republic Day speech in Hindi) की आपकी तलाश यहां खत्म होती है। इस राष्ट्रीय पर्व के बारे में विद्यार्थियों को जागरूक बनाने और उनके ज्ञान को परखने के लिए गणतत्र दिवस पर निबंध (Republic day essay) लिखने का प्रश्न भी परीक्षाओं में पूछा जाता है। इस लेख में दी गई जानकारी की मदद से Gantantra Diwas par nibandh लिखने में भी मदद मिलेगी। Gantantra Diwas par lekh bhashan तैयार करने में इस लेख में दी गई जानकारी की मदद लें और अच्छा प्रदर्शन करें।

मोबाइल फ़ोन को सेल्युलर फ़ोन भी कहा जाता है। मोबाइल आज आधुनिक प्रौद्योगिकी का एक अहम हिस्सा है जिसने दुनिया को एक साथ लाकर हमारे जीवन को बहुत प्रभावित किया है। मोबाइल हमारे जीवन का अभिन्न अंग बन गया है। मोबाइल में इंटरनेट के इस्तेमाल ने कई कामों को बेहद आसान कर दिया है। मनोरंजन, संचार के साथ रोजमर्रा के कामों में भी इसकी अहम भूमिका हो गई है। इस निबंध में मोबाइल फोन के बारे में बताया गया है।

भारत में प्रत्येक वर्ष 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है। 14 सितंबर, 1949 को संविधान सभा ने जनभाषा हिंदी को राजभाषा का दर्जा प्रदान किया। इस दिन की याद में हर वर्ष 14 सितंबर को राष्ट्रीय हिंदी दिवस मनाया जाता है। वहीं हिंदी भाषा को सम्मान देने के लिए 10 जनवरी को प्रतिवर्ष विश्व हिंदी दिवस (World Hindi Diwas) मनाया जाता है। इस लेख में राष्ट्रीय हिंदी दिवस (14 सितंबर) और विश्व हिंदी दिवस (10 जनवरी) के बारे में चर्चा की गई है।

मकर संक्रांति का त्योहार यूपी, बिहार, दिल्ली, राजस्थान, मध्यप्रदेश सहित देश के विभिन्न राज्यों में 14 जनवरी को मनाया जाता है। इसे खिचड़ी के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन लोग पवित्र नदियों में स्नान के बाद पूजा करके दान करते हैं। इस दिन खिचड़ी, तिल-गुड, चिउड़ा-दही खाने का रिवाज है। प्रयागराज में इस दिन से कुंभ मेला आरंभ होता है। इस लेख में मकर संक्रांति के बारे में बताया गया है।

पर्यावरण से संबंधित मुद्दों की चर्चा करते समय ग्लोबल वार्मिंग की चर्चा अक्सर होती है। ग्लोबल वार्मिंग का संबंध वैश्विक तापमान में वृद्धि से है। इसके अनेक कारण हैं। इनमें वनों का लगातार कम होना और ग्रीन हाउस गैसों का उत्सर्जन प्रमुख है। वनों का विस्तार करके और ग्रीन हाउस गैसों पर नियंत्रण करके हम ग्लोबल वार्मिंग की समस्या के समाधान की दिशा में कदम उठा सकते हैं। ग्लोबल वार्मिंग पर निबंध- कारण और समाधान में इस विषय पर चर्चा की गई है।

भारत में भ्रष्टाचार एक बड़ी समस्या है। समाचारों में अक्सर भ्रष्टाचार से जुड़े मामले प्रकाश में आते रहते हैं। सरकार ने भ्रष्टाचार पर नियंत्रण के लिए कई उपाय किए हैं। अलग-अलग एजेंसियां भ्रष्टाचार करने वालों पर कार्रवाई करती रहती हैं। फिर भी आम जनता को भ्रष्टाचार का सामना करना पड़ता है। हालांकि डिजीटल इंडिया की पहल के बाद कई मामलों में पारदर्शिता आई है। लेकिन भ्रष्टाचार के मामले कम हुए है, समाप्त नहीं हुए हैं। भ्रष्टाचार पर निबंध के माध्यम से आपको इस विषय पर सभी पहलुओं की जानकारी मिलेगी।

समय-समय पर ईश्वरीय शक्ति का एहसास कराने के लिए संत-महापुरुषों का जन्म होता रहा है। गुरु नानक भी ऐसे ही विभूति थे। उन्होंने अपने कार्यों से लोगों को चमत्कृत कर दिया। गुरु नानक की तर्कसम्मत बातों से आम जनमानस उनका मुरीद हो गया। उन्होंने दुनिया को मानवता, प्रेम और भाईचारे का संदेश दिया। भारत, पाकिस्तान, अरब और अन्य जगहों पर वर्षों तक यात्रा की और लोगों को उपदेश दिए। गुरु नानक जयंती पर निबंध से आपको उनके व्यक्तित्व और कृतित्व की जानकारी मिलेगी।

कुत्ता हमारे आसपास रहने वाला जानवर है। सड़कों पर, गलियों में कहीं भी कुत्ते घूमते हुए दिख जाते हैं। शौक से लोग कुत्तों को पालते भी हैं। क्योंकि वे घर की रखवाली में सहायक होते हैं। बच्चों को अक्सर परीक्षा में मेरा पालतू कुत्ता विषय पर निबंध लिखने को कहा जाता है। यह लेख बच्चों को मेरा पालतू कुत्ता विषय पर निबंध लिखने में सहायक होगा।

स्वामी विवेकानंद जी हमारे देश का गौरव हैं। विश्व-पटल पर वास्तविक भारत को उजागर करने का कार्य सबसे पहले किसी ने किया तो वें स्वामी विवेकानंद जी ही थे। उन्होंने ही विश्व को भारतीय मानसिकता, विचार, धर्म, और प्रवृति से परिचित करवाया। स्वामी विवेकानंद जी के बारे में जानने के लिए आपको इस लेख को पढ़ना चाहिए। यह लेख निश्चित रूप से आपके व्यक्तित्व में सकारात्मक परिवर्तन करेगा।

हम सभी ने "महिला सशक्तिकरण" या नारी सशक्तिकरण के बारे में सुना होगा। "महिला सशक्तिकरण"(mahila sashaktikaran essay) समाज में महिलाओं की स्थिति को सुदृढ़ बनाने और सभी लैंगिक असमानताओं को कम करने के लिए किए गए कार्यों को संदर्भित करता है। व्यापक अर्थ में, यह विभिन्न नीतिगत उपायों को लागू करके महिलाओं के आर्थिक और सामाजिक सशक्तिकरण से संबंधित है। प्रत्येक बालिका की स्कूल में उपस्थिति सुनिश्चित करना और उनकी शिक्षा को अनिवार्य बनाना, महिलाओं को सशक्त बनाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। इस लेख में "महिला सशक्तिकरण"(mahila sashaktikaran essay) पर कुछ सैंपल निबंध दिए गए हैं, जो निश्चित रूप से सभी के लिए सहायक होंगे।

भगत सिंह एक युवा क्रांतिकारी थे जिन्होंने भारत की आजादी के लिए लड़ते हुए बहुत कम उम्र में ही अपने प्राण न्यौछावर कर दिए थे। देश के लिए उनकी भक्ति निर्विवाद है। शहीद भगत सिंह महज 23 साल की उम्र में शहीद हो गए। उन्होंने न केवल भारत की आजादी के लिए लड़ाई लड़ी, बल्कि वह इसे हासिल करने के लिए अपनी जान जोखिम में डालने को भी तैयार थे। उनके निधन से पूरे देश में देशभक्ति की भावना प्रबल हो गई। उनके समर्थकों द्वारा उन्हें शहीद के रूप में सम्मानित किया गया था। वह हमेशा हमारे बीच शहीद भगत सिंह के नाम से ही जाने जाएंगे। भगत सिंह के जीवन परिचय के लिए अक्सर छोटी कक्षा के छात्रों को भगत सिंह पर निबंध तैयार करने को कहा जाता है। इस लेख के माध्यम से आपको भगत सिंह पर निबंध तैयार करने में सहायता मिलेगी।

वसुधैव कुटुंबकम एक संस्कृत वाक्यांश है जिसका अर्थ है "संपूर्ण विश्व एक परिवार है"। यह महा उपनिषद् से लिया गया है। वसुधैव कुटुंबकम वह दार्शनिक अवधारणा है जो सार्वभौमिक भाईचारे और सभी प्राणियों के परस्पर संबंध के विचार को पोषित करती है। यह वाक्यांश संदेश देता है कि प्रत्येक व्यक्ति वैश्विक समुदाय का सदस्य है और हमें एक-दूसरे का सम्मान करना चाहिए, सभी की गरिमा का ध्यान रखने के साथ ही सबके प्रति दयाभाव रखना चाहिए। वसुधैव कुटुंबकम की भावना को पोषित करने की आवश्यकता सदैव रही है पर इसकी आवश्यकता इस समय में पहले से कहीं अधिक है। समय की जरूरत को देखते हुए इसके महत्व से भावी नागरिकों को अवगत कराने के लिए वसुधैव कुटुंबकम विषय पर निबंध या भाषणों का आयोजन भी स्कूलों में किया जाता है। कॅरियर्स360 के द्वारा छात्रों की इसी आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए वसुधैव कुटुंबकम विषय पर यह लेख तैयार किया गया है।

गाय भारत के एक बेहद महत्वपूर्ण पशु में से एक है जिस पर न जाने कितने ही लोगों की आजीविका आश्रित है क्योंकि गाय के शरीर से प्राप्त होने वाली हर वस्तु का उपयोग भारतीय लोगों द्वारा किसी न किसी रूप में किया जाता है। ना सिर्फ आजीविका के लिहाज से, बल्कि आस्था के दृष्टिकोण से भी भारत में गाय एक महत्वपूर्ण पशु है क्योंकि भारत में मौजूद सबसे बड़ी आबादी यानी हिन्दू धर्म में आस्था रखने वाले लोगों के लिए गाय आस्था का प्रतीक है। ऐसे में विद्यालयों में गाय को लेकर निबंध लिखने का कार्य दिया जाना आम है। गाय के इस निबंध के माध्यम से छात्रों को परीक्षा में पूछे जाने वाले गाय पर निबंध को लिखने में भी सहायता मिलेगी।

क्रिसमस (christmas in hindi) भारत सहित दुनिया भर में मनाए जाने वाले बेहद महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक है। यह ईसाइयों का प्रमुख त्योहार है। प्रत्येक वर्ष इसे 25 दिसंबर को मनाया जाता है। क्रिसमस का महत्व समझाने के लिए कई बार स्कूलों में बच्चों को क्रिसमस पर निबंध (christmas in hindi) लिखने का कार्य दिया जाता है। क्रिसमस पर एग्जाम के लिए प्रभावी निबंध तैयार करने का तरीका सीखें।

रक्षाबंधन हिंदुओं के प्रमुख त्योहारों में से एक है। यह पर्व पूरी तरह से भाई और बहन के रिश्ते को समर्पित त्योहार है। इस दिन बहनें अपने भाइयों की कलाई पर रक्षाबंधन बांध कर उनके लंबी उम्र की कामना करती हैं। वहीं भाई अपनी बहनों को कोई तोहफा देने के साथ ही जीवन भर उनके सुख-दुख में उनका साथ देने का वचन देते हैं। इस दिन छोटी बच्चियाँ देश के प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति को राखी बांधती हैं। रक्षाबंधन पर हिंदी में निबंध (essay on rakshabandhan in hindi) आधारित इस लेख से विद्यार्थियों को रक्षाबंधन के त्योहार पर न सिर्फ लेख लिखने में सहायता प्राप्त होगी, बल्कि वे इसकी सहायता से रक्षाबंधन के पर्व का महत्व भी समझ सकेंगे।

होली त्योहार जल्द ही देश भर में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाने वाला है। होली आकर्षक और मनोहर रंगों का त्योहार है, यह एक ऐसा त्योहार है जो हर धर्म, संप्रदाय, जाति के बंधन की सीमा से परे जाकर लोगों को भाई-चारे का संदेश देता है। होली अंदर के अहंकार और बुराई को मिटा कर सभी के साथ हिल-मिलकर, भाई-चारे, प्रेम और सौहार्द्र के साथ रहने का त्योहार है। होली पर हिंदी में निबंध (hindi mein holi par nibandh) को पढ़ने से होली के सभी पहलुओं को जानने में मदद मिलेगी और यदि परीक्षा में holi par hindi mein nibandh लिखने को आया तो अच्छा अंक लाने में भी सहायता मिलेगी।

दशहरा हिंदू धर्म में मनाया जाने वाला एक महत्वपूर्ण त्योहार है। बच्चों को विद्यालयों में दशहरा पर निबंध (Essay in hindi on Dussehra) लिखने को भी कहा जाता है, जिससे उनकी दशहरा के प्रति उत्सुकता बनी रहे और उन्हें दशहरा के बारे पूर्ण जानकारी भी मिले। दशहरा पर निबंध (Essay on Dussehra in Hindi) के इस लेख में हम देखेंगे कि लोग दशहरा कैसे और क्यों मनाते हैं, इसलिए हिंदी में दशहरा पर निबंध (Essay on Dussehra in Hindi) के इस लेख को पूरा जरूर पढ़ें।

हमें उम्मीद है कि दीवाली त्योहार पर हिंदी में निबंध उन युवा शिक्षार्थियों के लिए फायदेमंद साबित होगा जो इस विषय पर निबंध लिखना चाहते हैं। हमने नीचे दिए गए निबंध में शुभ दिवाली त्योहार (Diwali Festival) के सार को सही ठहराने के लिए अपनी ओर से एक मामूली प्रयास किया है। बच्चे दिवाली पर हिंदी के इस निबंध से कुछ सीख कर लाभ उठा सकते हैं कि वाक्यों को कैसे तैयार किया जाए, Class 1 से 10 तक के लिए दीपावली पर निबंध हिंदी में तैयार करने के लिए इसके लिंक पर जाएँ।

बाल दिवस पर भाषण (Children's Day Speech In Hindi), बाल दिवस पर हिंदी में निबंध (Children's Day essay In Hindi), बाल दिवस गीत, कविता पाठ, चित्रकला, खेलकूद आदि से जुड़ी प्रतियोगिताएं बाल दिवस के मौके पर आयोजित की जाती हैं। स्कूलों में बाल दिवस पर भाषण देने और बाल दिवस पर हिंदी में निबंध लिखने के लिए उपयोगी सामग्री इस लेख में मिलेगी जिसकी मदद से बाल दिवस पर भाषण देने और बाल दिवस के लिए निबंध तैयार करने में मदद मिलेगी। कई बार तो परीक्षाओं में भी बाल दिवस पर लेख लिखने का प्रश्न पूछा जाता है। इसमें भी यह लेख मददगार होगा।

हिंदी दिवस हर साल 14 सितंबर को मनाया जाता है। भारत देश अनेकता में एकता वाला देश है। अपने विविध धर्म, संस्कृति, भाषाओं और परंपराओं के साथ, भारत के लोग सद्भाव, एकता और सौहार्द के साथ रहते हैं। भारत में बोली जाने वाली विभिन्न भाषाओं में, हिंदी सबसे अधिक उपयोग की जाने वाली और बोली जाने वाली भाषा है। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 343 के अनुसार 14 सितंबर 1949 को हिंदी भाषा को राजभाषा के रूप में अपनाया गया था। हमारी मातृभाषा हिंदी और देश के प्रति सम्मान दिखाने के लिए हिंदी दिवस का आयोजन किया जाता है। हिंदी दिवस पर भाषण के लिए उपयोगी जानकारी इस लेख में मिलेगी।

हिन्दी में कवियों की परम्परा बहुत लम्बी है। हिंदी के महान कवियों ने कालजयी रचनाएं लिखी हैं। हिंदी में निबंध और वाद-विवाद आदि का जितना महत्व है उतना ही महत्व हिंदी कविताओं और कविता-पाठ का भी है। हिंदी दिवस पर विद्यालय या अन्य किसी आयोजन पर हिंदी कविता भी चार चाँद लगाने का काम करेगी। हिंदी दिवस कविता के इस लेख में हम हिंदी भाषा के सम्मान में रचित, हिंदी का महत्व बतलाती विभिन्न कविताओं की जानकारी दी गई है।

15 अगस्त, 1947 को हमारा देश भारत 200 सालों के अंग्रेजी हुकूमत से आजाद हुआ था। यही वजह है कि यह दिन इतिहास में दर्ज हो गया और इसे भारत के स्वतंत्रता दिवस के तौर पर मनाया जाने लगा। इस दिन देश के प्रधानमंत्री लालकिले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराते तो हैं ही और साथ ही इसके बाद वे पूरे देश को लालकिले से संबोधित भी करते हैं। इस दौरान प्रधानमंत्री का पूरा भाषण टीवी व रेडियो के माध्यम से पूरे देश में प्रसारित किया जाता है। इसके अलावा देश भर में इस दिन सभी कार्यालयों में छुट्टी होती है। स्कूल्स व कॉलेज में रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। स्वतंत्रता दिवस से संबंधित संपूर्ण जानकारी आपको इस लेख में मिलेगी जो निश्चित तौर पर आपके लिए लेख लिखने में सहायक सिद्ध होगी।

प्रदूषण पृथ्वी पर वर्तमान के उन प्रमुख मुद्दों में से एक है, जो हमारी पृथ्वी को व्यापक स्तर पर प्रभावित कर रहा है। यह एक ऐसा मुद्दा है जो लंबे समय से चर्चा में है, 21वीं सदी में इसका हानिकारक प्रभाव बड़े पैमाने पर महसूस किया जा रहा है। हालांकि विभिन्न देशों की सरकारों ने इन प्रभावों को रोकने के लिए कई बड़े कदम उठाए हैं, लेकिन अभी भी एक लंबा रास्ता तय करना बाकी है। इससे कई प्राकृतिक प्रक्रियाओं में गड़बड़ी आती है। इतना ही नहीं, आज कई वनस्पतियां और जीव-जंतु या तो विलुप्त हो चुके हैं या विलुप्त होने की कगार पर हैं। प्रदूषण की मात्रा में तेजी से वृद्धि के कारण पशु तेजी से न सिर्फ अपना घर खो रहे हैं, बल्कि जीने लायक प्रकृति को भी खो रहे हैं। प्रदूषण ने दुनिया भर के कई प्रमुख शहरों को प्रभावित किया है। इन प्रदूषित शहरों में से अधिकांश भारत में ही स्थित हैं। दुनिया के कुछ सबसे प्रदूषित शहरों में दिल्ली, कानपुर, बामेंडा, मॉस्को, हेज़, चेरनोबिल, बीजिंग शामिल हैं। हालांकि इन शहरों ने प्रदूषण पर अंकुश लगाने के लिए कई कदम उठाए हैं, लेकिन अभी बहुत कुछ और बहुत ही तेजी के साथ किए जाने की जरूरत है।

वायु प्रदूषण पर हिंदी में निबंध के ज़रिए हम इसके बारे में थोड़ा गहराई से जानेंगे। वायु प्रदूषण पर लेख (Essay on Air Pollution) से इस समस्या को जहाँ समझने में आसानी होगी वहीं हम वायु प्रदूषण के लिए जिम्मेदार पहलुओं के बारे में भी जान सकेंगे। इससे स्कूली विद्यार्थियों को वायु प्रदूषण पर निबंध (Essay on Air Pollution) तैयार करने में भी मदद होगी। हिंदी में वायु प्रदूषण पर निबंध से परीक्षा में बेहतर स्कोर लाने में मदद मिलेगी।

एक बड़े भू-क्षेत्र में लंबे समय तक रहने वाले मौसम की औसत स्थिति को जलवायु की संज्ञा दी जाती है। किसी भू-भाग की जलवायु पर उसकी भौगोलिक स्थिति का सर्वाधिक असर पड़ता है। पृथ्वी ग्रह का बुखार (तापमान) लगातार बढ़ रहा है। सरकारों को इसमें नागरिकों की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए उपयुक्त कदम उठाने होंगे। जलवायु परिवर्तन को नियंत्रित करने के लिए सरकारों को सतत विकास के उपायों में निवेश करने, ग्रीन जॉब, हरित अर्थव्यवस्था के निर्माण की ओर आगे बढ़ने की जरूरत है। पृथ्वी पर जीवन को बचाए रखने, इसे स्वस्थ रखने और ग्लोबल वार्मिंग के खतरों से निपटने के लिए सभी देशों को मिलकर ईमानदारी से काम करना होगा। ग्लोबल वार्मिंग या जलवायु परिवर्तन पर निबंध के जरिए छात्रों को इस विषय और इससे जुड़ी समस्याओं और समाधान के बारे में जानने को मिलेगा।

हमारी यह पृथ्वी जिस पर हम सभी निवास करते हैं इसके पर्यावरण के संरक्षण के लिए विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) हर साल 5 जून को मनाया जाता है। इसकी शुरुआत 1972 में मानव पर्यावरण पर आयोजित संयुक्त राष्ट्र सम्मलेन के दौरान हुई थी। पहला विश्व पर्यावरण दिवस (Environment Day) 5 जून 1974 को “केवल एक पृथ्वी” (Only One Earth) स्लोगन/थीम के साथ मनाया गया था, जिसमें तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गाँधी ने भी भाग लिया था। इसी सम्मलेन में संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) की भी स्थापना की गई थी। इस विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) को मनाने का उद्देश्य विश्व के लोगों के भीतर पर्यावरण (Environment) के प्रति जागरूकता लाना और साथ ही प्रकृति के प्रति अपने कर्तव्य का निर्वहन करना भी है। इसी विषय पर विचार करते हुए 19 नवंबर, 1986 को पर्यवरण संरक्षण अधिनियम लागू किया गया तथा 1987 से हर वर्ष पर्यावरण दिवस की मेजबानी करने के लिए अलग-अलग देश को चुना गया।

आज के युग में जब हम अपना अधिकतर समय पढाई पर केंद्रित करने का प्रयास करते नजर आते हैं और साथ ही अपना ज़्यादातर समय ऑनलाइन रह कर व्यतीत करना पसंद करते हैं, ऐसे में हमारे जीवन में खेलों का महत्व कई गुना बढ़ जाता है। खेल हमारे लिए केवल मनोरंजन का साधन ही नहीं, अपितु हमारे सर्वांगीण विकास का एक माध्यम भी है। हमारे जीवन में खेल उतना ही जरूरी है, जितना पढाई करना। आज कल के युग में मानव जीवन में शारीरिक कार्य की तुलना में मानसिक कार्य में बढ़ोतरी हुई है और हमारी जीवन शैली भी बदल गई है, हम रात को देर से सोते हैं और साथ ही सुबह देर से उठते हैं। जाहिर है कि यह दिनचर्या स्वास्थ्य के लिए अच्छी नहीं है और इसके साथ ही कार्य या पढाई की वजह से मानसिक तनाव पहले की तुलना में वृद्धि महसूस की जा सकती है। ऐसी स्थिति में जब हमारे जीवन में शारीरिक परिश्रम अधिक नहीं है, तो हमारे जीवन में खेलो का महत्व बहुत अधिक बढ़ जाता है।

  • यूपी बोर्ड कक्षा 10वीं सिलेबस 2024
  • यूपी बोर्ड 12वीं सिलेबस 2024
  • आरबीएसई 10वीं का सिलेबस 2023

हमेशा से कहा जाता रहा है कि ‘आवश्यकता ही अविष्कार की जननी है’, जैसे-जैसे मानव की आवश्यकता बढती गई, वैसे-वैसे उसने अपनी सुविधा के लिए अविष्कार करना आरंभ किया। विज्ञान से तात्पर्य एक ऐसे व्यवस्थित ज्ञान से है जो विचार, अवलोकन तथा प्रयोगों से प्राप्त किया जाता है, जो कि किसी अध्ययन की प्रकृति या सिद्धांतों की जानकारी प्राप्त करने के लिए किए जाते हैं। विज्ञान शब्द का प्रयोग ज्ञान की ऐसी शाखा के लिए भी किया जाता है, जो तथ्य, सिद्धांत और तरीकों का प्रयोग और परिकल्पना से स्थापित और व्यवस्थित करता है।

शिक्षक अपने शिष्य के जीवन के साथ साथ उसके चरित्र निर्माण में भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। कहा जाता है कि सबसे पहली गुरु माँ होती है, जो अपने बच्चों को जीवन प्रदान करने के साथ-साथ जीवन के आधार का ज्ञान भी देती है। इसके बाद अन्य शिक्षकों का स्थान होता है। किसी व्यक्ति के व्यक्तित्व का निर्माण करना बहुत ही बड़ा और कठिन कार्य है। व्यक्ति को शिक्षा प्रदान करने के साथ-साथ उसके चरित्र और व्यक्तित्व का निर्माण करना भी उसी प्रकार का कार्य है, जैसे कोई कुम्हार मिट्टी से बर्तन बनाने का कार्य करता है। इसी प्रकार शिक्षक अपने छात्रों को शिक्षा प्रदान करने के साथ साथ उसके व्यक्तित्व का निर्माण भी करते हैं।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की शुरुआत 1908 में हुई थी, जब न्यूयॉर्क शहर की सड़को पर हजारों महिलाएं घंटों काम के लिए बेहतर वेतन और सम्मान तथा समानता के अधिकार को प्राप्त करने के लिए उतरी थीं। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मनाने का प्रस्ताव क्लारा जेटकिन का था जिन्होंने 1910 में यह प्रस्ताव रखा था। पहला अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 1911 में ऑस्ट्रिया, डेनमार्क, जर्मनी और स्विट्ज़रलैंड में मनाया गया था।

हम उम्मीद करते हैं कि स्कूली छात्रों के लिए तैयार उपयोगी हिंदी में निबंध, भाषण और कविता (Essays, speech and poems for school students) के इस संकलन से निश्चित तौर पर छात्रों को मदद मिलेगी।

  • आरबीएसई 12वीं का सिलेबस
  • एमपी बोर्ड 10वीं सिलेबस
  • एमपी बोर्ड 12वीं सिलेबस

बाल श्रम को बच्चो द्वारा रोजगार के लिए किसी भी प्रकार के कार्य को करने के रूप में परिभाषित किया गया है जो उनके शारीरिक और मानसिक विकास में बाधा डालता है और उन्हें मूलभूत शैक्षिक और मनोरंजक जरूरतों तक पहुंच से वंचित करता है। एक बच्चे को आम तौर व्यस्क तब माना जाता है जब वह पंद्रह वर्ष या उससे अधिक का हो जाता है। इस आयु सीमा से कम के बच्चों को किसी भी प्रकार के जबरन रोजगार में संलग्न होने की अनुमति नहीं है। बाल श्रम बच्चों को सामान्य परवरिश का अनुभव करने, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त करने और उनके शारीरिक और भावनात्मक विकास में बाधा के रूप में देखा जाता है। जानिए कैसे तैयार करें बाल श्रम या फिर कहें तो बाल मजदूरी पर निबंध।

एपीजे अब्दुल कलाम की गिनती आला दर्जे के वैज्ञानिक होने के साथ ही प्रभावी नेता के तौर पर भी होती है। वह 21वीं सदी के प्रसिद्ध वैज्ञानिकों में से एक हैं। कलाम देश के 11वें राष्ट्रपति बने, अपने कार्यकाल में समाज को लाभ पहुंचाने वाली कई पहलों की शुरुआत की। मेरा प्रिय नेता विषय पर अक्सर परीक्षा में निबंध लिखने का प्रश्न पूछा जाता है। जानिए कैसे तैयार करें अपने प्रिय नेता: एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध।

हमारे जीवन में बहुत सारे लोग आते हैं। उनमें से कई को भुला दिया जाता है, लेकिन कुछ का हम पर स्थायी प्रभाव पड़ता है। भले ही हमारे कई दोस्त हों, उनमें से कम ही हमारे अच्छे दोस्त होते हैं। कहा भी जाता है कि सौ दोस्तों की भीड़ के मुक़ाबले जीवन में एक सच्चा/अच्छा दोस्त होना काफी है। यह लेख छात्रों को 'मेरे प्रिय मित्र'(My Best Friend Nibandh) पर निबंध तैयार करने में सहायता करेगा।

3 फरवरी, 1879 को भारत के हैदराबाद में एक बंगाली परिवार ने सरोजिनी नायडू का दुनिया में स्वागत किया। उन्होंने कम उम्र में ही कविता लिखना शुरू कर दिया था। उन्होंने कैम्ब्रिज में किंग्स कॉलेज और गिर्टन, दोनों ही पाठ्यक्रमों में दाखिला लेकर अपनी पढ़ाई पूरी की। जब वह एक बच्ची थी, तो कुछ भारतीय परिवारों ने अपनी बेटियों को स्वतंत्रता आंदोलन में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया। हालाँकि, सरोजिनी नायडू के परिवार ने लगातार उदार मूल्यों का समर्थन किया। वह न्याय की लड़ाई में विरोध की प्रभावशीलता पर विश्वास करते हुए बड़ी हुई। सरोजिनी नायडू से संबंधित अधिक जानकारी के लिए इस लेख को पढ़ें।

  • 12वीं के बाद यूपीएससी की तैयारी कैसे करें?
  • 10वीं क्लास से नीट की तैयारी कैसे करें?
  • 12वीं के बाद नीट के बिना किए जा सकने वाले मेडिकल कोर्स

Frequently Asked Question (FAQs)

किसी भी हिंदी निबंध (Essay in hindi) को तीन भागों में विभाजित किया जा सकता है- ये हैं- प्रस्तावना या भूमिका, विषय विस्तार और उपसंहार (conclusion)।

हिंदी निबंध लेखन शैली की दृष्टि से मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते हैं-

वर्णनात्मक हिंदी निबंध - इस तरह के निबंधों में किसी घटना, वस्तु, स्थान, यात्रा आदि का वर्णन किया जाता है।

विचारात्मक निबंध - इस तरह के निबंधों में मनन-चिंतन की अधिक आवश्यकता होती है।

भावात्मक निबंध - ऐसे निबंध जिनमें भावनाओं को व्यक्त करने की अधिक स्वतंत्रता होती है।

विषय वस्तु की दृष्टि से भी निबंधों को सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक, खेल, विज्ञान और प्रौद्योगिकी जैसी बहुत सी श्रेणियों में बाँटा जा सकता है।

निबंध में समुचित जगहों पर मुहावरे, लोकोक्तियों, सूक्तियों, दोहों, कविता का प्रयोग करके इसे प्रभावी बनाने में मदद मिलती है। हिंदी निबंध के प्रभावी होने पर न केवल बेहतर अंक मिलेंगी बल्कि असल जीवन में अपनी बात रखने का कौशल भी विकसित होगा।

कुछ उपयोगी विषयों पर हिंदी में निबंध के लिए ऊपर लेख में दिए गए लिंक्स की मदद ली जा सकती है।

निबंध, गद्य विधा की एक लेखन शैली है। हिंदी साहित्य कोष के अनुसार निबंध ‘किसी विषय या वस्तु पर उसके स्वरूप, प्रकृति, गुण-दोष आदि की दृष्टि से लेखक की गद्यात्मक अभिव्यक्ति है।’ एक अन्य परिभाषा में सीमित समय और सीमित शब्दों में क्रमबद्ध विचारों की अभिव्यक्ति को निबंध की संज्ञा दी गई है। इस तरह कह सकते हैं कि मोटे तौर पर किसी विषय पर अपने विचारों को लिखकर की गई अभिव्यक्ति निबंध है।

  • Latest Articles
  • Popular Articles

Upcoming School Exams

National institute of open schooling 12th examination.

Admit Card Date : 28 March,2024 - 22 May,2024

National Institute of Open Schooling 10th examination

Madhya pradesh board 10th examination.

Application Date : 01 May,2024 - 20 May,2024

Madhya Pradesh Board 12th Examination

Uttar pradesh board 12th examination.

Application Date : 07 May,2024 - 31 May,2024

Applications for Admissions are open.

Aakash iACST Scholarship Test 2024

Aakash iACST Scholarship Test 2024

Get up to 90% scholarship on NEET, JEE & Foundation courses

ALLEN Digital Scholarship Admission Test (ADSAT)

ALLEN Digital Scholarship Admission Test (ADSAT)

Register FREE for ALLEN Digital Scholarship Admission Test (ADSAT)

JEE Main Important Physics formulas

JEE Main Important Physics formulas

As per latest 2024 syllabus. Physics formulas, equations, & laws of class 11 & 12th chapters

PW JEE Coaching

PW JEE Coaching

Enrol in PW Vidyapeeth center for JEE coaching

PW NEET Coaching

PW NEET Coaching

Enrol in PW Vidyapeeth center for NEET coaching

JEE Main Important Chemistry formulas

JEE Main Important Chemistry formulas

As per latest 2024 syllabus. Chemistry formulas, equations, & laws of class 11 & 12th chapters

Explore on Careers360

  • Board Exams
  • Top Schools
  • Navodaya Vidyalaya
  • NCERT Solutions for Class 10
  • NCERT Solutions for Class 9
  • NCERT Solutions for Class 8
  • NCERT Solutions for Class 6

NCERT Exemplars

  • NCERT Exemplar
  • NCERT Exemplar Class 9 solutions
  • NCERT Exemplar Class 10 solutions
  • NCERT Exemplar Class 11 Solutions
  • NCERT Exemplar Class 12 Solutions
  • NCERT Books for class 6
  • NCERT Books for class 7
  • NCERT Books for class 8
  • NCERT Books for class 9
  • NCERT Books for Class 10
  • NCERT Books for Class 11
  • NCERT Books for Class 12
  • NCERT Notes for Class 9
  • NCERT Notes for Class 10
  • NCERT Notes for Class 11
  • NCERT Notes for Class 12
  • NCERT Syllabus for Class 6
  • NCERT Syllabus for Class 7
  • NCERT Syllabus for class 8
  • NCERT Syllabus for class 9
  • NCERT Syllabus for Class 10
  • NCERT Syllabus for Class 11
  • NCERT Syllabus for Class 12
  • CBSE Date Sheet
  • CBSE Syllabus
  • CBSE Admit Card
  • CBSE Result
  • CBSE Result Name and State Wise
  • CBSE Passing Marks

CBSE Class 10

  • CBSE Board Class 10th
  • CBSE Class 10 Date Sheet
  • CBSE Class 10 Syllabus
  • CBSE 10th Exam Pattern
  • CBSE Class 10 Answer Key
  • CBSE 10th Admit Card
  • CBSE 10th Result
  • CBSE 10th Toppers
  • CBSE Board Class 12th
  • CBSE Class 12 Date Sheet
  • CBSE Class 12 Admit Card
  • CBSE Class 12 Syllabus
  • CBSE Class 12 Exam Pattern
  • CBSE Class 12 Answer Key
  • CBSE 12th Result
  • CBSE Class 12 Toppers

CISCE Board 10th

  • ICSE 10th time table
  • ICSE 10th Syllabus
  • ICSE 10th exam pattern
  • ICSE 10th Question Papers
  • ICSE 10th Result
  • ICSE 10th Toppers
  • ISC 12th Board
  • ISC 12th Time Table
  • ISC Syllabus
  • ISC 12th Question Papers
  • ISC 12th Result
  • IMO Syllabus
  • IMO Sample Papers
  • IMO Answer Key
  • IEO Syllabus
  • IEO Answer Key
  • NSO Syllabus
  • NSO Sample Papers
  • NSO Answer Key
  • NMMS Application form
  • NMMS Scholarship
  • NMMS Eligibility
  • NMMS Exam Pattern
  • NMMS Admit Card
  • NMMS Question Paper
  • NMMS Answer Key
  • NMMS Syllabus
  • NMMS Result
  • NTSE Application Form
  • NTSE Eligibility Criteria
  • NTSE Exam Pattern
  • NTSE Admit Card
  • NTSE Syllabus
  • NTSE Question Papers
  • NTSE Answer Key
  • NTSE Cutoff
  • NTSE Result

Schools By Medium

  • Malayalam Medium Schools in India
  • Urdu Medium Schools in India
  • Telugu Medium Schools in India
  • Karnataka Board PUE Schools in India
  • Bengali Medium Schools in India
  • Marathi Medium Schools in India

By Ownership

  • Central Government Schools in India
  • Private Schools in India
  • Schools in Delhi
  • Schools in Lucknow
  • Schools in Kolkata
  • Schools in Pune
  • Schools in Bangalore
  • Schools in Chennai
  • Schools in Mumbai
  • Schools in Hyderabad
  • Schools in Gurgaon
  • Schools in Ahmedabad
  • Schools in Uttar Pradesh
  • Schools in Maharashtra
  • Schools in Karnataka
  • Schools in Haryana
  • Schools in Punjab
  • Schools in Andhra Pradesh
  • Schools in Madhya Pradesh
  • Schools in Rajasthan
  • Schools in Tamil Nadu
  • NVS Admit Card
  • Navodaya Result
  • Navodaya Exam Date
  • Navodaya Vidyalaya Admission Class 6
  • JNVST admit card for class 6
  • JNVST class 6 answer key
  • JNVST class 6 Result
  • JNVST Class 6 Exam Pattern
  • Navodaya Vidyalaya Admission
  • JNVST class 9 exam pattern
  • JNVST class 9 answer key
  • JNVST class 9 Result

Download Careers360 App's

Regular exam updates, QnA, Predictors, College Applications & E-books now on your Mobile

student

Certifications

student

We Appeared in

Economic Times

The Hindi Insider

How to Write an Essay in Hindi – अच्छा निबंध कैसे लिखें

आज की कनेक्टेड दुनिया में निबंध लेखन एक मूल्यवान कौशल है जो शिक्षा जगत की सीमाओं से परे तक फैला हुआ है। चाहे आप असाइनमेंट पर काम करने वाले छात्र हों, पेशेवर क्राफ्टिंग रिपोर्ट, या आप कोई ऐसा व्यक्ति हैं जो विचारों को व्यक्त करना पसंद करता है, निबंध लेखन की कला में महारत हासिल करने से प्रभावी ढंग से संवाद करने की आपकी क्षमता में वृद्धि होती है। इस ब्लॉग पोस्ट में, हम सीखेंगे कि how to write a good essay in Hindi in easy steps – सरल चरणों में एक अच्छा निबंध कैसे लिखा जाए।

निबंध क्या है और वे महत्वपूर्ण क्यों हैं?

निबंध लेखन अभिव्यक्ति का एक रूप है जो आपको किसी विशिष्ट विषय पर अपने विचार, अंतर्दृष्टि और राय साझा करने की सुविधा देता है। निबंध आपको अपने विचारों को व्यवस्थित करने, तर्क प्रस्तुत करने और जानकारी को सुसंगत और संरचित तरीके से संप्रेषित करने में सक्षम बनाते हैं। उनका महत्व कक्षा से परे है; निबंध विभिन्न क्षेत्रों में संवाद करने, मनाने और प्रभावित करने के लिए उपयोग किया जाने वाला एक शक्तिशाली उपकरण है। निबंध लेखन में महारत हासिल करके, आप अपने आप को एक ऐसे कौशल से लैस कर रहे हैं जिसका वास्तविक दुनिया में उपयोग होता है और जो लोगों पे स्थायी प्रभाव डालता है।

जरूर पढ़ें – How To Write A Letter in Hindi: Complete Guide.

Types of Essay – निबंध के प्रकार

यह विभिन्न प्रकार के होते हैं, प्रत्येक का अपना उद्देश्य और शैली होती है:

कथात्मक निबंध:

ये निबंध एक कहानी बताते हैं, जो अक्सर व्यक्तिगत अनुभवों से ली जाती है। वे ज्वलंत कल्पनाएं बनाकर और भावनाएं जगाकर पाठकों को बांधे रखते हैं।

व्याख्यात्मक निबंध:

व्याख्यात्मक निबंध का लक्ष्य सूचित करना और समझाना है। ये निबंध तर्कों का समर्थन करने के लिए तथ्यों और सबूतों पर भरोसा करते हुए, किसी विषय का संतुलित विश्लेषण प्रस्तुत करते हैं।

तर्कपूर्ण निबंध:

तर्कपूर्ण निबंध में, आप किसी विशेष मुद्दे पर एक रुख अपनाते हैं और अपने दृष्टिकोण का समर्थन करने के लिए तर्क प्रस्तुत करते हैं। इसका उद्देश्य पाठक को आपके दृष्टिकोण से सहमत होने के लिए राजी करना है।

प्रेरक निबंध:

तर्कपूर्ण निबंधों के समान, प्रेरक निबंधों का उद्देश्य पाठक को आश्वस्त करना है, लेकिन वे अक्सर तार्किक तर्क के साथ-साथ भावनात्मक अपील पर भी जोर देते हैं।

Important Tips for Writing Essay in Hindi – निबंध लिखने के लिए महत्वपूर्ण सुझाव

लेखन प्रक्रिया में गहराई से उतरने से पहले, आपका मार्गदर्शन करने के लिए इन आवश्यक युक्तियों पर विचार करें:

  • अपने दर्शकों को जानें: अपने निबंध को अपने इच्छित पाठकों के अनुरूप बनाएं। क्या वे क्षेत्र के विशेषज्ञ हैं या जानकारी चाहने वाले सामान्य पाठक हैं?
  • एक स्पष्ट और प्रासंगिक विषय चुनें: एक ऐसा विषय चुनें जिसमें आपकी रुचि हो और जो आपके निबंध के उद्देश्य से मेल खाता हो। सुनिश्चित करें कि विषय न तो बहुत व्यापक हो और न ही बहुत संकीर्ण।
  • अपने निबंध की योजना बनाएं: एक स्पष्ट रूपरेखा बनाएं जिसमें एक अच्छी तरह से संरचित परिचय, तार्किक रूप से व्यवस्थित मुख्य पैराग्राफ और एक संक्षिप्त लेकिन प्रभावशाली निष्कर्ष शामिल हो।
  • एक मजबूत थीसिस कथन तैयार करें: आपका थीसिस कथन आपके निबंध की रीढ़ है। इसे आपके मुख्य तर्क को संक्षेप में प्रस्तुत करना चाहिए और आपके निबंध की दिशा का मार्गदर्शन करना चाहिए।
  • सरल और स्पष्ट भाषा का प्रयोग करें: अपने लेखन में स्पष्टता के लिए प्रयास करें। ऐसे शब्दजाल या अत्यधिक जटिल शब्दों के प्रयोग से बचें जो आपके पाठकों को भ्रमित कर सकते हैं।
  • दिखाएँ, बताएं नहीं: केवल एक बिंदु बताने के बजाय, अपने पाठकों को आपके विचारों को अधिक प्रभावी ढंग से देखने और समझने में मदद करने के लिए वर्णनात्मक भाषा और उदाहरणों का उपयोग करें।

How To Write An Essay in Hindi Essential Steps – निबंध लेखन में आवश्यक कदम

एक अच्छी तरह से संरचित और सम्मोहक निबंध बनाने के लिए इन बुनियादी चरणों का पालन करें:

चरण 1 : निबंध लिखने से पहले – Before Writing Essay

  • विषय चयन: ऐसा विषय चुनें जो आपके अनुरूप हो और आपके उद्देश्य से मेल खाता हो। सुनिश्चित करें कि यह प्रासंगिक और दिलचस्प हो।
  • अनुसंधान : विभिन और प्रतिष्ठित स्रोतों से जानकारी इकट्ठा करें और विस्तृत नोट्स लें। यह आपके निबंध का आधार बनेगा।
  • थीसिस वक्तव्य तैयार करना : एक स्पष्ट और संक्षिप्त थीसिस वक्तव्य विकसित करें जो आपके निबंध के मुख्य तर्क या संदेश को समाहित करता हो।

जरूर पढ़ें – ध्वनि प्रदूषण पर निबंध, कारण, उपाय – Noise Pollution Essay in Hindi .

चरण 2 : निबंध लिखते समय – While Writing Essay

  • परिचय : एक मनोरम हुक के साथ शुरुआत करें, आवश्यक संदर्भ प्रदान करें और अपना थीसिस विवरण प्रस्तुत करें।
  • मुख्य पैराग्राफ : प्रत्येक पैराग्राफ को एक स्पष्ट विषय वाक्य से शुरू होना चाहिए जो मुख्य विचार का परिचय देता है। प्रासंगिक साक्ष्यों और उदाहरणों के साथ इस विचार का समर्थन करें।
  • परिवर्तन : अनुच्छेदों के बीच विचारों का सहज प्रवाह सुनिश्चित करने के लिए संक्रमणकालीन वाक्यांशों का उपयोग करें।
  • निष्कर्ष : अपने मुख्य बिंदुओं को सारांशित करें, अपनी थीसिस को दोबारा दोहराएं।

चरण 3 : संपादन एवं प्रूफरीडिंग – Editing and Proofreading

  • प्रूफरीडिंग : व्याकरण संबंधी त्रुटियों, वर्तनी की गलतियों और विराम चिह्न त्रुटियों के लिए अपने निबंध की सावधानीपूर्वक समीक्षा करें।
  • स्पष्टता और सुसंगतता : सुनिश्चित करें कि आपके वाक्य और पैराग्राफ तार्किक रूप से जुड़े हुए हैं, जिससे पाठकों के लिए आपके तर्क का पालन करना आसान हो जाता है।
  • उद्धरण जाँच : साहित्यिक चोरी से बचने के लिए उचित उद्धरण शैली का उपयोग करके अपने स्रोतों को उचित रूप से उद्धृत करें।

List of Essays / Essay Topics

Important Tips on How to write an essay in Hindi by The Hindi Insider - Students Writing Essay

निबंध लेखन की कला में महारत हासिल करना एक मूल्यवान कौशल है जिसे कोई भी व्यक्ति अभ्यास और समर्पण के माध्यम से विकसित कर सकता है। विभिन्न निबंध प्रकारों को समझकर, आवश्यक चरणों का पालन करके और व्यावहारिक सुझावों को लागू करके, आप ऐसे निबंध बनाने में सक्षम होंगे जो आपके विचारों को प्रभावी ढंग से संप्रेषित करेंगे।

Essay Writing in Hindi FAQs

मैं अपने निबंध के लिए एक अच्छा विषय कैसे चुनूँ? ऐसा विषय चुनें जिसमें आपकी रुचि हो और जो आपके निबंध के उद्देश्य से मेल खाता हो।

मैं अपना निबंध प्रभावी ढंग से कैसे शुरू करूं? एक मनोरम हुक से शुरुआत करें जो आपके पाठक का ध्यान खींचता है।

मैं अपने निबंध के मुख्य अनुच्छेदों को कैसे व्यवस्थित करूं? प्रत्येक अनुच्छेद को साक्ष्य और उदाहरणों द्वारा समर्थित एक विचार पर केंद्रित करना चाहिए।

मैं एक सम्मोहक निष्कर्ष कैसे लिखूं? अपने मुख्य बिंदुओं को सारांशित करें, अपनी थीसिस को दोबारा दोहराएं और पाठकों को एक विचारोत्तेजक अंतिम विचार छोड़ दें।

थीसिस कथन क्या है? थीसिस कथन एक संक्षिप्त वाक्य है जो आपके मुख्य विचार या तर्क को प्रस्तुत करता है।

मेरा निबंध की कितने लंबाई होनी चाहिए? निबंध की लंबाई अलग-अलग होती है, लेकिन अकादमिक निबंध आम तौर पर 500 से 800 शब्दों के होते हैं। अपने प्रशिक्षक द्वारा दिए गए दिशानिर्देशों का पालन करें।

मैं अपने निबंध की स्पष्टता कैसे सुधार सकता हूँ? स्पष्ट और सरल भाषा का प्रयोग करें और सुनिश्चित करें कि आपके विचार एक पैराग्राफ से दूसरे पैराग्राफ तक तार्किक रूप से प्रवाहित हों।

प्रूफ़रीडिंग का उद्देश्य क्या है? प्रूफरीडिंग आपको अपने निबंध में व्याकरण, वर्तनी और विराम चिह्न त्रुटियों को पकड़ने में मदद करती है।

अगर आपको how to write an essay in Hindi पर हमारा आर्टिकल पसंद आया तो कृपया कमेंट करें और इस पेज के लिंक को अपने दोस्तों और स्टूडेंट्स के साथ साझा करें।

Leave a Comment Cancel reply

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

HiHindi.Com

HiHindi Evolution of media

निबंध लेखन का तरीका | Essay Writing In Hindi

नमस्कार दोस्तों निबंध लेखन का तरीका Essay Writing In Hindi आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि निबंध क्या हैं. निबंध कैसे लिखा जाता हैं एस्से राइटिंग का सबसे सरल तरीका क्या हैं.

निबंध की रुपरेखा Class 3, Class 4, Class 5, Class 6, Class 7, Class 8, Class 9, Class 10, Class 11, Class 12 के लिए आसान भाषा में निबंध रचना का तरीका बताया गया हैं.

निबंध लेखन का तरीका Essay Writing In Hindi

निबंध लेखन का तरीका | Essay Writing In Hindi

साहित्य को दो विधा में लिखा जाता हैं, गद्धय और पद्धय. पध्य में छंद, लय, अलंकार, रसविधान इत्यादि का ध्यान रखना पड़ता हैं. जबकि गद्धय साहित्य का वह रूप हैं जिनमे इन नियमों कि लेखन में कोई बाध्यता या सीमा नही होती हैं.

निबंध लेखन में तथ्यों एवं विचारों को बोलचाल कि भाषा में प्रस्तुत किया जाता हैं. निबंध इसी गद्य साहित्य कि एक विद्या हैं. लेखन कि अन्य विधाओं में कहानी, नाटक, उपन्यास, संस्मरण, रिपोर्ट और आत्मकथा आती हैं.

इन सभी विधाओं में कथावस्तु प्रधान होती हैं. दूसरी तरफ निबंध लेखन में कथावस्तु के साथ विषय वस्तु कि प्रधानता भी होती हैं.

Definition of essay In Hindi (निबंध की परिभाषा )

निबंध शब्द नि और बंध दो शब्दों से मिलकर बना हैं, जिसका अर्थ होता हैं नियमों से बंधी हुई रचना या लेख. हिंदी भाषा के शब्द निबंध को अंग्रेजी में Essay का समानार्थी माना जाता हैं. अंग्रेजी शब्द Essay का शाब्दिक अर्थ होता हैं- विषय विशेष पर छोटा लेख.

लेकिन इसका मतलब यह नही की किसी विषय पर लिखा निबंध छोटा हो, निबन्ध विस्तृत भी हो सकता है. मगर यदि ऐसी गद्य रचना जो सारगर्भित ना हो, क्रमबद्ध रूप से विचारों को प्रकट ना किया गया हो, जो निबंध कि बॉडी में विषय से भटक जाए, उसे निबन्ध नही कहा जा सकता हैं.

एक साधारण हिंदी निबंध में शब्दों की संख्या 500 से लेकर 1000 तक हो सकती हैं. यदि यही शब्द संख्या 1000-3000 के मध्य हैं तो उसे दीर्घ निबंध कहा जाएगा. कुछ पंडितो द्वारा दी गईं निबंध कि परिभाषा इस प्रकार हैं- सभी प्रकार के बन्धो से मुक्त रचना निबंध हैं.

मगर यह परिभाषा सभी परिस्थतियो के लिए लागू नही हो पाती है. विचारों कि स्वतंत्रता तक तो ठीक हैं, मगर यदि विचारों कि प्रस्तुती क्रमबद्ध और प्रभावशाली तरीके से नही कि गईं हैं तो वह पाठक पर अपना प्रभाव नही छोड़ पाता हैं. इस प्रकार सार्थक और क्रमबद्ध ढंग से विचारों कि प्रस्तुती को निबन्ध कहा जा सकता हैं.

इस तरह किसी एक विशेष विषय पर लिखी गईं रचना जिनमे चयनित विषय के अनुसार क्रमबद्ध रूप पाठक के सामने प्रस्तुत की जाती हैं जिनमे विषयवस्तु कि सारगर्भित और विस्तृत जानकारी प्रदान की गई हैं उसे निबन्ध कहा जाता हैं.

हिन्दी निबंध लेखन महत्व (Importance of Hindi essay writing)

कोई भी व्यक्ति अपने विचारों की अभिव्यक्ति के लिए लिखित या मौखिक भाषा का उपयोग करता हैं. अपने विचारों को बोलकर अभिव्यक्त करने को मौखिक अभिव्यक्ति कौशल कहा जाता हैं.

जबकि विचारों को लिखकर व्यक्त करने को लेखन कौशल कहा जाता हैं. इन्ही कौशल के द्वारा व्यक्ति के व्यक्तित्व कि पहचान होती हैं. कोई जरुरी नही कि व्यक्ति मौखिक अभिव्यक्ति कोशल में माहिर हो, जैसे कि एक वक्ता. वह किसी लेखक कि तरह लेखन-कौशल में भी माहिर हो.

दूसरी तरफ एक लेखक अच्छा वक्ता भी हो यह कोई जरुरी नही हैं. मगर सामान्य तौर पर एक व्यक्ति से यही अपेक्षा की जाती हैं कि वो भले ही एक अच्छा वक्ता या लेखक ना हो.

पर मौखिक ही नही, लिखित रूप से भी अपने विचारों को अभिव्यक्त कर सकेगा. किसी भी व्यक्ति के लेखन कौशल की जांच के लिए सामान्यत पत्र लेखन अथवा निबंध लेखन का ही सहारा लिया जाता हैं. मगर पत्र लेखन में किसी विषय पर व्यक्ति की सोच की जांच संभव नही हैं.

जबकि निबंध लेखन द्वारा न केवल व्यक्ति के ज्ञान, अनुभव, सोच और भावना का पता लगाया जा सकता हैं. बल्कि साथ-साथ उनके लेखन कौशल के बारे में भी जानकारी प्राप्त हो जाती हैं.

इस प्रकार काफी हद तक निबन्ध लेखन से उस व्यक्ति के व्यक्तित्व का पता लगाया जा सकता हैं. इसलिए निबन्ध को व्यक्ति की सोच और व्यक्तित्व का दर्पण भी कहा जाता हैं.

इनके अतिरिक्त प्रतियोगिताओ और अकादमिक परीक्षाओं में परिक्षार्थियो के मूल्याकंन के लिए निबंध काफी अहम हैं. इसके नियमित उपयोग से व्यक्ति में अपने विचारों को क्रमबद्ध करने कि क्षमता का विकास होता हैं.

निबंध के अंग (Part of the essay)

मुख्यत किसी भी हिंदी निबन्ध के तीन भाग होते हैं.

  • परिचय इस भाग में निबन्ध की विषयवस्तु का परिचय दिया जाता हैं. जिससे उसके पाठकों को अगले भाग को समझने में मदद मिलती हैं.
  • मध्य भाग  यह निबंध का शरीर अथवा मुख्य भाग होता हैं. इसमे विषय वस्तु का विस्तृत वर्णन होता हैं इसे विषय प्रसार के नाम से भी जाना जाता हैं. तथा यह मध्य भाग प्रत्येक निबन्ध का सबसे बड़ा भाग भी होता हैं.
  • उपसंहार  किसी भी हिंदी-निबंध के अन्तिम प्रेरोग्राफ को उपसंहार कहा जाता हैं, जिसमे पुरे लेख का सक्षिप्त सार दिया हुआ होता हैं.

निबंध के प्रकार (Types of essay)

  • वर्णनात्मक निबन्ध इसमे विषयवस्तु का सामान्य वर्णन होता हैं, इस प्रकार के निबन्ध लेखन कि द्रष्टि से सरल भी होते है. पर्व त्यौहार, स्थान, व्यक्ति विशेष, ऋतू विशेष आदि श्रेणियों के निबन्ध इस केटेगरी में आते हैं.
  • विश्लेषणात्मक निबंध  इस प्रकार के निबन्ध लेखन में विश्लेषणात्मक वर्णन होता हैं इन्हे दुसरे शब्दों में विवरणात्मक निबन्ध भी कहा जाता हैं. इनमे तथ्यों के आधार पर विश्लेषण के माध्यम से ज्ञानवर्धन पर जोर दिया जाता हैं. अर्थव्यवस्था और अन्तर्राष्ट्रीय सम्बन्ध जैसे विषयों पर आधारित निबन्ध इस श्रेणी में आते हैं.
  • विचारात्मक निबन्ध इस प्रकार के लेख की विषयवस्तु में पक्ष-विपक्ष, लाभ-हानि, सकारात्मक-नकारात्मक आदि का विस्तृत वर्णन होता हैं. इस प्रकार के लेख विषय नक्सलवाद, आतंकवाद, गरीबी एवं अन्य विवादास्पद विषयों पर आधारित लेख विचारात्मक श्रेणी में आते हैं. मगर इस बात का ध्यान देना जरुरी हैं, किसी रचना की समीक्षा कों समीक्षात्मक निबन्ध नही कहा जा सकता हैं.
  • भावनात्मक निबन्ध किसी विचार या कथन की विषयवस्तु पर लिखा लेख भावनात्मक निबन्ध कहलाता हैं. उदहारण के तौर पर’ ”पर उपदेश बहु तेरे ” ”परहित सरसि धरम नही भाई” अथवा इस प्रकार की अन्य कहावतों पर लिखे गये निबन्ध इस श्रेणी में आते हैं. दुसरे शब्दों में इन्हे चिन्तन निबन्ध भी कहा जाता हैं. क्युकि किसी विचार पर लेखक अपने सोच और ज्ञान को क्रमबद्ध ढंग से निबन्ध का रूप देता हैं. यदि मै सरपंच होता तो यह करता, यदि मै राष्ट्रपति होता तो, प्रधानमन्त्री होता तो. जैसे मौलिक कल्पना पर आधारित लेख भावनात्मक निबन्ध की श्रेणी में आते हैं.
  • ललित निबंध  भाषा सौदर्य के आधार पर पाठकों में विशेष प्रभाव पैदा करने वाले लेख जिसमे वाक्य की रचना, लोकोक्ति, मुहावरे, अलंकार आदि का भी समुचित उपयोग किया जाता हैं. इस प्रकार के लेख को ललित निबन्ध कहा जाता हैं. वर्णनात्मक, विश्लेषणात्मक, विचारात्मक और भावनात्मक तथा सभी श्रेणी के निबन्ध को ललित निबंध के रूप में लिखा जा सकता हैं यह तभी संभव हो पाता हैं जब लेखक का भाषा और रचनात्मक लेखन पर पूर्ण अधिकार हो.

निबंध कैसे लिखें? How to write an essay in Hindi

हिंदी निबंध लिखना एक कला हैं किसी अन्य कला में जिस तरह सफल होने के लिए अभ्यास की आवश्यकता होती हैं,

उसी प्रकार किसी भी विषय पर अपने विचारों को लिखित रूप से अभिव्यक्त के लिए निरंतर अभ्यास की जरुरत रहती हैं. निरंतर अभ्यास के द्वारा ही एक अच्छा निबंधकार बन सकता हैं.

निबंध की विशेषता (Essence of essay)

किसी भी लेख को तब तक सुसंगठित लेख नही कहा जा सकता, जब तक वह अपने प्रभाव और सार्थकता की सभी शर्तो को पूरा ना करता हो. इस दृष्टि से एक अच्छे निबंध की निम्न विशेषताएं होनी चाहिए.

  • व्याकरण शुद्ध और स्पष्ट भाषा  एक अच्छे हिंदी निबन्ध की भाषा व्यकरण सम्मत और पूर्ण स्पष्ट वाक्य रचना के साथ-साथ सरल और शुद्ध भाषा में होना चाहिए.
  • विषयानुकुल भाषा  किसी भी लेख की भाषा यदि व्याकरण के नियमो के अनुसार और स्पष्ट हो मगर विषय वस्तु आधारित न होने की स्थति में उस लेख को अच्छे निबन्ध की संज्ञा नही दी जा सकती हैं.
  • विचारों की क्रमबदता  एक अच्छे लेख में विचारों की अच्छी क्रमबद्धता होती हैं, यही उसमे एक अच्छा पाठक प्रभाव पैदा कर पाती हैं.
  • विचारों की सम्बद्धता  प्रत्येक लेख में विचारों की क्रमबद्धता के साथ साथ उनकी सम्बद्धता बहुत मायने रखती हैं. यदि किसी लेख में विचारों का पूर्ण बिखराव हो तो उन्हें अच्छे निबन्ध की संज्ञा नही दी जा सकती हैं.
  • विषय केन्द्रित  यदि कोई देख विषय केन्द्रित नही हैं, अर्थात बिच-बिच में वो विषयवस्तु से भटक जाता हैं, तो उसे किसी भी परिस्थति में निबन्ध नही कहा जाता हैं. विषय से भटकाव किसी भी लेख का सबसे बड़ा दोष समझा जाता हैं.
  • सारगर्भित  पाठक पर अच्छा प्रभाव डालने के लिए निबंध का सारगर्भित होना अत्यावश्यक हैं. इसके लिए जरुरी हैं, आवश्यक सामग्री और जानकारी से अधिक विस्तृत लेख बनाने की कोशिश उस लेख को अधिक बोझिल और जटिल बना देती हैं. जिससे पाठक पर बुरा असर पड़ता हैं.

अच्छा निबंध कैसे लिखे (how to write good essays)

हमे सोचे कि निबंध लेखन आसान हैं या कठिन तो पहला उत्तर यही होगा कि यह न तो कठिन हैं न बहुत सरल. यदि हम थोडा सा अभ्यास करे तो इसमे कुशलता प्राप्त कर सकते हैं.

यदि आप अपने विचारों को लिखित रूप में अभिव्यक्त करना चाहते हैं, तो कोई भी इन साधारण बातो को ध्यान में रखते हुए एक लेख की रचना करे तो वह एक अच्छा निबंधकार हो सकता हैं.

चाहे कोई भी निबंध विषय हो उस पर लिखने से पूर्व अपने ज्ञान और अनुभव से उस विषय के बारे में सोचे त्त्श्चात उस [पर लिखना आरम्भ करे . साथ ही उस लेख को लिखते समय दिमाग में आने वाले विचारों को सही क्रमबद्धता दे.

  • किसी भी लेख की शुरुआत उसके विषय परिचय से करे.
  • विषय परिचय के बाद उसके मध्य भाग को लिखे तथा अधिक विस्तृत करने के उद्देश्य से उसमे विषयवस्तु से अनावश्यक सामग्री को नही जोड़े.
  • किसी भी लेख की समाप्ति उसके उपसंहार अर्थात सार से होनी चाहिए अन्यथा उसे अधुरा ही समझा जाता हैं.

निबंध लेखक बनने के सूत्र (essay writing format in hindi)

लेखन ये एक ऐसी कला हैं, जिसमे निरंतर अभ्यास के द्वारा कुशलता प्राप्त की जा सकती हैं. मगर इसमे कुछ ऐसी प्रक्रियाएँ और ट्रिक्स होती हैं,

उसका उपयोग करते हुए लेखन को आसान और सुगम बनाया जा सकता हैं. साथ ही यह सूत्र उस लेख की सार्थकता और प्रभाव को भी बढ़ा देता हैं.

  • किसी लेख में रोचकता बढाने के लिए उसमे व्यग्य का एक सीमा तक समावेश किया जा सकता हैं.
  • लेखन शैली में अलंकार और मुहावरे युक्त भाषा से इसे सरल और आकर्षक बना सकते हैं.
  • लेखन और अभिव्यक्ति को सजीव बनाने के लिए स्थान-स्थान पर लोक्क्ति और मुहावरों का उपयोग करे.
  • किसी भी लेख की रचना करने से पूर्व सम्बन्धित पुस्तकों का अध्ययन करना चाहिए.
  • लेख को आरम्भ करने से पूर्व उसके परिचय को याद रखना चाहिए, जो पाठक की रूचि बढाने के लिए विषय केन्द्रित और आकर्षक भी होना चाहिए. संभव हो तो पाठक की उत्सुकता बढाने के लिए लेख की शुरुआत सूक्ति, मुहावरे या काव्य रचना से की जा सकती हैं.
  • लेख की रोचकता को बढाने के लिए विभिन्न स्थानों पर कवियों, लेखको, महापुरुषों व् अन्य प्रसिद्ध व्यक्तियों के उद्द्र्ण (कथनों) को शामिल किया जाना चाहिए.
  • निबंध की परिभाषा जिसमे गद्य रूप में लिखे गये लेख को क्रमबद्ध रूप से लिखा गया हो तथा सारगर्भित जानकारी दी गईं हो , इस परिभाषा को ध्यान में रखते हुए निबंध रचना की जानी चाहिए.

निबंध लिखते समय रखें ये सावधानी (hindi essays in hindi language)

  • जिस विषय पर जानकारी हो आर्टिकल उसी पर लिखना चाहिए.
  • किसी भी लेख की शुरुआत उसके परिचय से करनी चाहिए. और अंत में उपसंहार लिखना ना भूले.
  • शब्दों के उच्चारण का लिहाज रखते हुए सरल शब्दों का प्रयोग करे, अनावश्यक शब्दों से बचे.
  • विराम चिह्नों और पूर्ण विराम का सही उपयोग करे.
  • व्याकरण सम्मत भाषा का ही उपयोग करे.
  • लेख की शैली सीधी सरल और सुबोध होने के साथ-साथ विषय के उपर्युक्त होनी चाहिए.
  • निबन्ध का आकार न अधिक छोटा और न ही अधिक बड़ा होना चाहिए.
  • विषयवस्तु की विस्तृत जानकारी लेख के मध्य भाग में ही देनी चाहिए.
  • विचारों और वाक्यों में उचित लय और क्रमबद्धता होनी चाहिए.
  • यदि किसी महापुरुष पर निबंध लिखा जा रहा हैं, तो उसके जन्म से लेकर मृत्यु और सभी कार्यो का क्रम के साथ घटना सहित ब्यौरा देना चाहिए.
  • लेख विषय से नही हटना चाहिए, जिसके केंद्र में हमेशा विषयवस्तु होनी चाहिए.
  • अनाव्शयक विस्तार से बचते हुए सारगर्भित जानकारी देने का अधिकतम प्रयत्न करे.

हिंदी निबंध के विषय (hindi essay topics)

निबन्ध की विषय सूची में समसामयिक, राजनितिक, सामाजिक, आर्थिक, शैक्षिक, विज्ञान प्रोधोगिकी, पर्यावरण तथा पारिस्थतिकी, साहित्यिक, महान व्यक्तित्व, विविध त्यौहार और पर्व तथा सूक्ति आधारित हो सकते हैं. यहाँ आपको उदाहरण सहित समझाने की कोशिश कर रहे हैं.

  • समसामयिक  इसमे वर्तमान में सभी घटनाओं पर आधारित, महिला विश्वकप 2017, नोटबन्दी, जीएसटी, 2017 में बाढ़, आतंकवादी घटनाएं, वैश्विक सम्मेलन, विधानसभा चुनाव आदि.
  • राजनितिक  भारत में अपराधीकरण, पंचायती राज, प्रजातंत्र, धर्म और राजनीति, क्षेत्रवाद की समस्या, आम चुनाव, दलबदल की राजनीती, सयुक्त राष्ट्र संघ, भारत अमेरिका सम्बन्ध, भारत पाक सम्बन्ध आदि.
  • सामाजिक  इस विषय सूची में मानवाधिकार, कन्या भ्रूण हत्या, जातिप्रथा, बाल विवाह, फैशन की दुनिया, भारत में भ्रष्टाचार,प्रतिभा पलायन जैसे विषय शामिल हो सकते हैं.
  • आर्थिक और शैक्षिक इनमे काला धन, सतत विकास, बेरोजगारी, विशेष आर्थिक जोन, व्यवसायिक शिक्षा, छात्र असंतोष, स्त्री शिक्षा, भारत में उच्च शिक्षा आदि.
  • विज्ञान प्रोद्योगिकी, पर्यावरण परिस्थितिकी  इस विषय श्रेणी में पर्यावरण प्रदूषण, विज्ञान, उर्जा संकट, इमेल, परमाणु उर्जा, अन्तरिक्ष में मानव आदि विषय आ सकते हैं.
  • साहित्यिकी  इसमे हिग्लिश का प्रचलन, राष्ट्रभाषा हिंदी, हिंदी का विकास, भक्ति काल, साहित्य समाज का दर्पण, मेरी प्रिय पुस्तक रामचरितमानस.
  • महान व्यक्तित्व  इसमे महात्मा गांधी, अब्राहम लिंकन, नरेंद्र मोदी, सचिन तेंदुलकर, लता मगेशंकर, मुकेश अम्बानी, जे आर डी टाटा, राजिव गांधी, कपिल देव आदि.
  • विविध  इसमे दुर्गापूजा, दीपावली, होली, रक्षाबन्धन, 15 अगस्त, 26 जनवरी, शीत ऋतू, राष्ट्रिय खेल हॉकी, मेरे प्रिय शिक्षक, पर्यटन, भारत की विरासत, मानवता जैसे अनेकों निबन्ध आ सकते हैं.
  • सूक्ति आधारित  इस श्रेणी में सांच बराबर तप नही झूट बराबर पाप, दैव दैव आलसी पुकारा, परहित सरसि धर्म नही भाई, जहां सुमति वहां सम्पति नाना जैसे हिंदी लेख आ सकते हैं.

  • भाषा का महत्व पर निबंध
  • विज्ञान वरदान या अभिशाप पर निबंध
  • महिला शिक्षा पर निबंध

उम्मीद करता हूँ दोस्तों निबंध लेखन का तरीका Essay Writing In Hindi का लेख पसंद आया होगा.

यदि आपकों यहाँ दिया गया निबंध लिखने का तरीका पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें.

One comment

बहुत बढ़िया आर्टिकल स्टूडेंट के लिए बहुत ही फायदेमंद, निबंध से परीक्षा में अच्छे मार्क्स पाने का अवसर होता हैं.

Leave a Reply Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The best Hindi Blog for Quotes,Inspirational stories, Whatsapp Status and Personal Development Articles

10 मोटिवेशनल किताबें जो आपको ज़रूर पढ़नी चाहिएं

एक उत्तम निबंध कैसे लिखें.

Last Updated: May 9, 2017 By Gopal Mishra 11 Comments

निबंध कैसे लिखें?

How to write an essay in hindi.

निबंध लिखने का तरीका समझने से पहले यह जानना आवश्यक है कि “निबंध क्या है?” और उसके तत्त्व कौन से हैं व सफल निबन्ध की कसौटी क्या है? तत्पश्चात ही उच्च गुणवत्ता का निबन्ध लेखन किया जा सकता है।

rummy gold

निबंध क्या है?

हिंदी के प्रमुख साहित्यकार आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने निबन्ध को परिभाषित करते हुए कहा है-

निबन्ध लेखक अपने मन की प्रवृत्ति के अनुसार स्वच्छंद गति से इधर-उधर फूटी हुई सूत्र शाखाओं पर विचरता चलता है।

उपरोक्त परिभाषा से दो तथ्य तो स्पष्ट हो जाते हैं कि निबन्ध लेखक के मन की प्रवृत्ति के अनुरूप  ही होना चाहिए और निबन्ध का लेखन स्वच्छन्द गति पर आधारित हो अर्थात निबन्ध लेखक के व्यक्तित्त्व को, उसके मानसिक चिन्तन को शत-प्रतिशत उजागर करता हो। यानी निबंध ऐसा लिखना चाहिए कि लेखक का चिंतन, वैचारिक स्तर, विषय पर उसकी स्वयं की विचारधारा स्पष्ट हो जानी चाहिए।

यानि हम कह सकते हैं कि-

holy rummy

निबंध, लेखक के व्यक्तित्व को प्रकाशित करने वाली ललित गद्य-रचना है।

इसके अतिरिक्त लेखक को नदी की धारा सम स्वच्छन्दता से बहना चाहिए, किसी अन्य के मत से प्रभावित हुए बिना। लेखक का व्यक्तिगत परिचय या स्वार्थ विषय-वस्तु को प्रभावित न करे- यह अत्यन्त आवश्यक है। ज़रूरी नहीं कि आप जो भी लिखें वो सभी को स्वीकार्य हो, ज़रूरी ये है कि आप निष्पक्ष हो कर लिखें क्योंकि निष्पक्षता ही किसी निबंध की प्रथम और अंतिम कसौटी है।

कुछ अन्य बातों की ओर भी निबन्ध लेखक का ध्यान हो, जैसे-

  • पाठक को निबन्ध पढ़ते हुए सहभागिता का अनुभव हो
  • लेखक के विचार पाठक को सरलता से समझ आने चाहियें
  • जहाँ तक संभव हो लेखक के अनुभव पाठक को आप-बीते अनुभव हों

वस्तुतः किसी भी निबन्ध की सफलता इसी तथ्य पर निर्भर करती है कि पाठक उससे कितनी आत्मीयता अनुभव करते हैं।

निबन्ध कैसे लिखें?

मूलतः हमारा विषय यह था कि “ निबन्ध कैसे लिखें “। एक आप-बीती बताती हूँ -शिक्षण जगत में प्रवेश किया ही था कि एक निराश कर देने वाला अनुभव हुआ। परीक्षा के पश्चात एक विद्यार्थी से परीक्षा संबंधित वार्तालाप करते हुए कहा,” निबन्ध छोड़ आया क्योंकि याद किया हुआ नहीं आया।” मैं अचंभित होते हुए उससे पूछ बैठी,” निबन्ध को भी याद करना होता है क्या?” उसने कोई उत्तर नही दिया।

काफी विचार-मंथन के पश्चात मुझे सम्पूर्ण शिक्षण-प्रक्रिया में यह खामी नज़र आयी कि हम शायद यह समझ ही नहीं पाए थे कि पाठ्यक्रम में निबन्ध-लेखन क्यों जोड़ा गया है। कक्षा में छात्रों का वाद-विवाद होने पर प्रायः यह कहा करती थी कि अगर अपने विचारों को स्पष्ट नहीं कर पा रहे और विवाद का हल हिंसा में खोजते हो तो सारी शिक्षण – व्यवस्था ही  असफल है।विचारों को उचित तरीके से स्पष्ट कर पाने की कला को सीखना  ही निबन्ध-लेखन का मूल मंतव्य है।

मित्रों, निबंध कैसे लिखें  समझने के लिए यह जानना ज़रूरी है कि-

पाठ्यक्रम में निबन्ध – लेखन को क्यों समाहित किया गया :

1.  विद्यार्थी अपने विचारों को एकत्र करना सीख पाए। 2. विचारों को संतुलित तरीके से व्यक्त कर पाएं। 3. भाषा को उपयुक्त रूप से प्रयोग करना सीख पाएं। 4. किसी भी विषय पर छात्रों के स्वयं के विचार हों। 5. उनका वैचारिक स्तर निश्चित हो सके। 6. संवेदनात्मक व वैचारिक स्तर पर परिपक्व हो सके। 7. वे अपने विचारों को सकारात्मक दिशा दे पाए। 8.  अपने विचारों को दृढ़ता से रखना सीख सके। 9. आलोचनात्मक दृष्टिकोण विकसित हो सके। 10.रटन्तू तोता न बन विचारशील प्राणी बन सके।

अब प्रश्न यह उठता है कि निबन्ध किस प्रकार लिखे जाने चाहियें।

निबन्ध लिखते हुए छात्रों को इन बातों पर ध्यान देना चाहिए-

1) निबंध के विषय पर अधिक से अधिक जानकारी एकत्र करें, इसके लिए आप इन्टरनेट और पुस्कालयों की मदद ले सकते हैं। आप अपने शिक्षक से भी विषय सम्बंधित किताबों या लेखों के बारे में जानकारी ले सकते हैं। यदि आप किसी परिभाषा या वक्तव्य को प्रयोग करना चाहते हैं तो उसे लिख लें और उसका स्रोत भी नोट कर लें। विशेषकर आपकी सोच को बल देती महापुरुषों की उक्तियाँ अवश्य लिख  कर याद कर लें।

ध्यान रहे कि अध्यन करने के पीछे का उद्देश्य चीजों को रटना नहीं बल्कि अपने ज्ञान को बढ़ाना और अपनी एक सोच विकसित करना है।

2) पहले से लिखे उत्कृष्ट निबंधों का अध्यन करें। ऐसा करते हुए आपको एक अच्छे निबन्ध के प्रारूप को समझना है। यहाँ यह भी ज़रूरी नहीं कि आप उसी विषय पर निबंध पढ़ें जिसपर आपको खुद लिखना है, आप किसी भी विषय पर लिखा अच्छा निबंध पढ़कर अपना लेखन सुधार सकते हैं।

3) अपने विषय को लेकर आपने जो विचार बनाए हैं उसकी अपने मित्रों या परिवारजनों से चर्चा करें। चर्चा से निकले प्रमुख बिन्दुओं को नोट कर लें और सही हो तो उनका निबंध में प्रयोग करें।

4) निबन्ध लिखने से पहले उसकी एक रूपरेखा बना लें: आरम्भ, मध्य व अंत मे क्या-क्या लिखना है सोच लें और किसी अन्य पेज पर बुलेट पॉइंट्स में लिख लें।

5) निबंध की भाषा सरल व स्पष्ट हो।

6) लेखन शुद्ध , त्रुटि रहित हो।

7) रटा-रटाया न होकर मौलिक विषय-वस्तु हो।

8) अपने अनुभवों पर आधारित हो।

9) हर तथ्य क्रम में हो मसलन समस्या का अर्थ, कारण, दूर करने के उपाय ओर अंत मे उपसंहार-सभी बातें उचित क्रम में हों।

10) अनावश्यक विस्तार से बचें।

11) तथ्यों की पुनरावृत्ति न करें .

12) शीर्षक व उपशीर्षक को रेखांकित करें।

13) विषय से संबंधित किसी प्रसिद्ध कवि या महा-पुरुष की कोई उक्ति स्मृति में हो तो उसे अवश्य लिखें।

14) अंत मे दोबारा पढ़ कर उसमें आवश्यक सुधार करें और वर्तनी पर विशेष ध्यान दें।

इन तथ्यों को ध्यान में रखकर विद्यार्थी निबन्ध-लेखन में शत-प्रतिशत अंक ला सकता है। निबन्ध- लेखन सागर के समान गहरा अवश्य है पर उसमे उतरेंगे तो सफलता रूपी मोती अवश्य ही पाएंगे।

essay writing definition in hindi

लेखिका हिंदी प्रवक्ता

निबंध लेखन की कला सिखाते इस लेख के लिए हम  नीरू ‘शिवम’ जी के आभारी हैं। धन्यवाद!

AchhiKhabar.Com पर प्रकाशित निबंधों की सूची यहाँ देखें 

Did you like article on “ निबंध कैसे लिखें? /  How to write an essay in Hindi ?” यदि निबंध लेखन को लेकर आपके कुछ विचार हों तो कृपया कमेन्ट के माध्यम से हमसे शेयर करें.

यदि आपके पास Hindi में कोई article, business idea, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: [email protected] .पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!

Related Posts

  • 10 मिनट में कैसे बनाएं एक परफेक्ट Resume या CV
  • कैसे बनें एक सफल प्रॉपर्टी डीलर? 5 Tips
  • गुरु पूर्णिमा पर निबंध
  • कैसे बनें एक खुश रहने वाला इंसान ? Just a simple idea by Robin Sharma
  • हर एक शिक्षक को नमन हर एक शिष्य को आभार

essay writing definition in hindi

November 27, 2022 at 8:30 pm

Didi thank you so much ?

August 3, 2021 at 4:51 pm

दीदी आपका बहुत बहुत धन्यवाद आपके लेख को पढ़कर काफी प्रेरणा मिली कल मेरा शिक्षाशास्त्र परास्नातक द्वितीय वर्ष पंचम प्रश्नपत्र है आशीर्वाद दीजिएगा

essay writing definition in hindi

November 14, 2018 at 11:50 pm

Kya nibandh mE subject related diagram (chitra) banaya ja sakta h

essay writing definition in hindi

November 15, 2018 at 8:49 am

नहीं. लेकिन आप इन्फोग्रफिक या टेबल जैसा कुछ बना सकते हैं जिसमे निबंध से सम्बंधित बातें शोर्ट में बतायी गयी हों.

essay writing definition in hindi

March 8, 2018 at 10:36 pm

Aapne jo bhi baatein kahin hai wo hum jarur dhayan me rakhenge and thanks for your tips ma’am.

essay writing definition in hindi

February 25, 2018 at 12:00 am

Thanks for the tips ma’am…but I request to you ki hum log 3rd class k bacchho ko nibandh dikhana kaise sikhaye samay ki kami k Karan unless pass school books k bad time nahi hota…. please help

essay writing definition in hindi

December 28, 2017 at 7:49 pm

Very very thankful sir….

essay writing definition in hindi

May 18, 2017 at 10:06 pm

बहुत बढ़िया आर्टिकल स्टूडेंट के लिए बहुत ही फायदेमंद, निबंध से परीक्षा में अच्छे मार्क्स पाने का अवसर होता हैं.

essay writing definition in hindi

May 11, 2017 at 3:10 pm

Thanks for this Post sir….

essay writing definition in hindi

May 10, 2017 at 6:29 pm

Nice article… Sahi kaha aapne apne vicharon ko sahi tarah se spasht karne ki kala ko sikhna hi nibandh hai. Is article se sabhi students ko nibandh likhne me zarur laabh milega.

essay writing definition in hindi

May 10, 2017 at 2:46 am

परीक्षा में अच्छे अंक पाने में निबंध का अहम योगदान होता है और इसके लिए सभी students मेहनत भी करते है लेकिन फिर भी सबका रिजल्ट भिन्न होता है । नीरू जी आपके द्वारा बताएं गए टिप्स से यकीनन Students को बहुत मदद मिलेगी ।

Join the Discussion! Cancel reply

Watch Inspirational Videos: AchhiKhabar.Com

Copyright © 2010 - 2024 to AchhiKhabar.com

Hindi Facts

14 Tips for Writing an Essay in Hindi | Essay Writing in Hindi

निबंध (Essay in Hindi) ऐसी गद्य-रचना है जिसमें किसी विषय पर सीमित आकार के भीतर सुंदर ढंग के क्रमबद्ध विचार प्रकट करने का प्रयत्न किया गया हो। उत्तम निबंध-रचना स्वयं में एक कला है। निबंध में लेखक को अपने मौलिक व्यक्तित्व एवं गागर में सागर भरने की शक्ति का परिचय देना होता है।

निबंध का अर्थ

नि + बंध से बना है—निबंध (Essay in Hindi) । इसका अर्थ होता है अच्छी तरह से बाँधना। किसी विषय-वस्तु से संबद्ध विभिन्न विचार, यदि क्रमबद्ध रूप में एकत्र किए जाएँ, तो वह निबंध का रूप ले लेगा। दूसरे शब्दों में, ‘निबंध’ गद्य-साहित्य की ऐसी विधा है जिसके माध्यम से संक्षिप्त रूप में किसी विषय-वस्तु से संबद्ध संपूर्ण तथ्यों को दर्शाया जाता है।

आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने तो निबंध को गद्य  की  कसौटी कहा और इसी को भाषा की पूर्ण शक्ति के विकास में सबसे अधिक सहायक एवं उपयोगी माना। इसमें भाषा का मानक और प्रांजल रूप सामने आता है। यह लेखक की विषय से संबंधित जानकारी, अनुभव और विचारों की सुसंबद्ध प्रस्तुति है। इसमें लेखक को विषय से भटकने की छूट नहीं होती। विषय के सभी पहलुओं पर अपने विचारों को लिखकर प्रस्तुत करना होता है।

अँग्रेजी भाषा में निबंध को Essay कहते हैं। इसका अर्थ होता है, ‘प्रयत्न करना। दूसरी तरफ, हिन्दी (Essay in Hindi) में निबंध का अर्थ है अच्छी तरह बाँधना। इस प्रकार ‘निबंध’ और ‘Essay’ के अर्थ को देखने से ऐसा लगता है कि जिस प्रकार एक पतंग आकाश में स्वच्छंद भाव से इधर-उधर विचरण करती रहती है, लेकिन उसकी डोर किसी स्थिर वस्तु से बँधी होती है, फलतः उसे उड़ने की स्वतंत्रता तो होती है, लेकिन एक सीमा में।

इस प्रकार, अँग्रेजी और हिन्दी शब्दों के मूल अर्थ में पर्याप्त अन्तर है। एक ओर बन्धन है, तो दूसरी ओर ढीलापन। इस तरह दो विशेषताओं की सहायता लेकर यदि हिन्दी और अंग्रेजी शब्दों का अर्थ स्पष्ट करना चाहें, तो हम कह सकते हैं कि हिन्दी के ‘निबन्ध’ शब्द का तात्पर्य ‘परिबन्ध निबन्ध’ है और अँग्रेजी के ‘ऐसे’ का तात्पर्य ‘निर्बन्ध निबन्ध’।

इस तरह, निबन्धों की दो कोटियाँ होंगी।

1. परिबन्ध निबन्ध 2. निर्बन्ध निबन्ध

परिबन्ध निबन्ध में लेखक अपने को बिखरायेगा नहीं। वह अपने विषय पर कुंडली मारकर बे- जायगा। उसका निबन्ध एक रूप सूत्रित रहेगा। रॉबर्ट लिण्ड ने इसके बारे में लिखा है, “Sometimes it is nearly a sermon, sometimes it is nearly a short story. It may be a fragment of autobiography, or a piece of nonsense.” परिबन्ध निबन्ध (Essay in Hindi) में ऐसी बात नहीं हो सकती।

निर्बन्ध : निबन्ध में लेखक को पूरी आजादी है। कभी वह धरती की सुषमा देखे कभी जलक्रीड़ा करे और कभी व्योमविहार, जी० के० चेस्टरटन की तरह रेल के एक टिकट’ पर या ‘खल्ली के एक टुकड़े’ पर तीनों लोकों की परिक्रमा कर जाय। ऐसी ही रचना के लिए ‘ A loose sally. of mind; undigested piece, not regular, orderly in performance’ जैसी बात कही गयी है। निबन्ध को बिलकुल असंगठित, अपूर्ण, अव्यवस्थित, अपरिपक्व, शिथिल मन की ढीलीढाली उड़ान कहा गया है। किंतु, अच्छे निबन्ध-लेखक चाहे अपने निबन्धों में कल्पना का इन्द्रधनुषी रंग कितना भी भर दें विचारों में श्रृंखला तो होनी ही चाहिए। हम निबन्धकार से दिवास्वप्न की आकांक्षा नी करते।

निबंध के अंग- निबंध (Essay in Hindi) के तीन अंग होते हैं

  • प्रस्तावना – इसमें पाठक को विषय से परिचित कराया जाता है। अतः प्रस्तावना आकर्षक, सारगर्भित और प्रभावपूर्ण होनी चाहिए। इसके अनावश्यक विस्तार से बचना चाहिए।
  • विषयवस्तु – इसमें विषय को क्रमिक इकाइयों में बाँटकर विचार-बिंदुओं को तर्कपूर्ण ढंग से लिखना चाहिए। विषय का प्रतिपादन अनुच्छेदों में बाँटकर किया जाना चाहिए। यह ध्यान रखना चाहिए कि निबंध मूल विषय पर ही आधारित है। लेखक प्रसंगानुकूल सूक्तियों और काव्यांशों का प्रयोग करके निबंध को रोचक बना सकता है।
  • उपसंहार – निबंध का अंतिम चरण होने के कारण यह जितना सुंदर, संक्षिप्त और आकर्षक होगा, निबंध उतना ही प्रभावशाली होगा। लेखक उपसंहार में कभी तो प्रतिपादित विषय का सार लिखता है, कभी अपना दृष्टिकोण लिखता है और कभी-कभी कोई काव्यांश उद्धृत करते हुए निबंध का समापन करता है। उपसंहार इतना प्रभावशाली होना चाहिए कि पढ़ने वाले के मानस पटल पर इसकी सार्थकता का प्रभाव पड़े।

निबंध के प्रकार (Types of Essay in Hindi)

निबन्धों की कई कोटियाँ निर्धारित की गयी हैं और सभी निबन्धों पर एक ही तरह की जादुई छड़ी नहीं चलानी चाहिए। विचारात्मक, विवरणात्मक तथा भावात्मक निबन्धों के उपस्थापन और विस्तारण में अन्तर होना चाहिए। इन निबन्धों की कोटियों पर ध्यान रखने से बात स्पष्ट होगी

Essay in Hindi मुख्यतः तीन प्रकार के होते हैं

1. विवरणात्मक या वर्णनात्मक निबंध ; जैसे – हाथी, विद्यालय, बाजार,गाय, रेलगाड़ी, वायुयान, हाट, ग्रामपंचायत आदि।

2. विचारात्मक निबंध ; जैसे-एकता, अनुशासन, राष्ट्र-प्रेम, समय पालन, साक्षरता, अनुशासन, देशभक्ति, राष्ट्रभाषा आदि।

3. भावनात्मक या काल्पनिक निबंध ; जैसे – एक प्याली चाय, पैसे की आत्मकथा, यदि मैं प्रधानमंत्री होता, बदली घिर आयी, एक प्याली चाय आदि।

अगर आप जीवनी पढ़ना पसंद करते है तो यहाँ Click करें ।

Tips for Essay Writing in Hindi – निबंध लिखते समय इन का ध्यान रखना चाहिए-

निबंध-लेखन का न तो कोई सिद्धांत है और न नियम। यह एक कला है, जो बार-बार लेखन-प्रयास से धीरे-धीरे विकसित होती है। फिर भी, कुछ मुख्य-मुख्य बातों पर ध्यान देने से आप एक अच्छा निबंध-लेखक बन सकते हैं, जैसे

  • निबंध के लिए दिए गए विषयों में से ऐसे विषय का चयन करना चाहिए जिसे आप भली-भाँति समझते हों।
  • निबंध-लेखन से पूर्व यह आवश्यक है कि विषय से संबंधित सारी सामग्री जुटा ली जाए तथा उस पर गंभीर विचार किया जाए।
  • विषय से संबंधित विचारों को क्रमबद्ध ढंग से प्रस्तुत करना चाहिए।
  • भावों में परस्पर तारतम्य बना रहे इसका ध्यान रखना चाहिए।
  • विचारों की स्पष्ट अभिव्यक्ति, भावो और कल्पना का उचित संयोग होना चाहिए।
  • भाषा सरल, प्रभावपूर्ण और स्पष्ट होनी चाहिए। उचित शब्दावली का प्रयोग करना चाहिए।इससे पाठक की रुचि और जिज्ञासा निबंध पढ़ने में बनी रहती है। इसके लिए आवश्यकतानुसार उपसर्ग, प्रत्यय, संधि, समास, श्रुतिसमभिन्नार्थक शब्द , अनेक शब्दों के लिए एक शब्द, पर्यायवाची शब्द , मुहावरे , लोकोक्तियाँ आदि शब्द-रूपों का यथासंभव प्रयोग करें। लेकिन हाँ, लच्छेदार या उच्च कोटि की भाषा लिखने के प्रयास में कहीं आप गलत और अर्थहीन शब्दों का प्रयोग न कर बैठें, नहीं तो, ‘चौबे गए छब्बे बनने, दूबे होकर आए’ वाली कहावत चरितार्थ हो जाएगी।
  • विषय के सभी पक्षों पर लिखते समय अनावश्यक विस्तार से बचना चाहिए।
  • व्याकरण संबंधी नियमों को ध्यान में रखते हुए वर्तनी की शुद्धि और विराम-चिह्नों के प्रति सचेत रहना चाहिए।
  • निबंध को दी गई शब्द-सीमा के अंदर ही पूरा करना चाहिए।
  • निबंध-रचना के तीन प्रमुख तत्व हैं-(क) प्रस्तावना (भूमिका) अथवा आरंभ (ख) विवेचना अथवा मध्य भाग । (ग) उपसंहार अथवा अंत ।
  • जिस विषय पर आपको Essay in Hindi या निबंध लिखना है, उससे संबंधित ‘भूमिका’ या परिचय-बिंदु (Introductory Point) से इसका श्री गणेश करें। इसमें आपकी भाषा-शैली इतनी प्रभाव पूर्ण होनी चाहिए कि पाठक की रुचि एवं जिज्ञासा निबंध पढ़ने हेतु जाग्रत हो जाए। इसे एक अनुच्छेद में इस प्रकार लिखें कि ‘गागर में सागर’ समाया हुआ लगे।
  • भूमिका अथवा परिचय के बाद आवश्यकतानुसार दो-चार अनुच्छेदों (Paragraphs) में विषय से संबंधित संपूर्ण सूचनाओं, तथ्यों आदि को क्रमबद्ध रूप से, परंतु संक्षेप में लिख जाएँ। यह भाग Essay in Hindi या निबंध का मुख्य भाग या धड़ कहा जा सकता है। ध्यान रखें, प्रत्येक अनुच्छेद अलग अलग सूचनाओं या तथ्यों को अपने में समेटे हुए हो। दूसरे शब्दों में, जब विषय से संबंधित कोई एक भाव स्पष्ट हो जाए, तब दूसरे भाव को लेकर दूसरा अनुच्छेद प्रारंभ करें।
  • निबंध को दो-चार अनुच्छेदों में लपेटने के बाद जब आपको महसूस होने लगे कि विषय से संबंधित सारे महत्त्वपूर्ण तथ्य अब लिखे जा चुके हैं, तब आती है इसके समापन या उपसंहार की बात। इस भाग में विषय-वस्तु से संबद्ध निष्कर्ष, महत्ता, संदेश आदि की चर्चा करें। इस प्रकार निबंध की यात्रा, भूमिका से आरंभ होकर विभिन्न विचारबिन्दुओं को स्पर्श करती हुई, उपसंहार की अंतिम मंजिल तक पहुँचती हैं। प्रस्तावना के समान उपसंहार भी अत्यंत प्रभावशाली होना चाहिए। निबंध का अंत इस ढंग से किया जाना चाहिए कि मुख्य भाव पाठक के मन-मस्तिष्क में गूंजता रहे।
  • निबंध गद्य-साहित्य का एक रूप है, अतः विभिन्न लेखकों की भिन्न भिन्न गद्य-विधाओं (निबंध, प्रबंध, कहानी, उपन्यास, नाटक, एकांकी आदि) का अध्ययन करते रहें। इनसे ज्ञान-क्षेत्र के साथ-साथ साहित्यिक-भाषा का विकास होता रहेगा। साथ ही, महान कवियों की काव्य रचनाओं का भी अध्ययन करें और प्रसंगवश उनका प्रयोग निबंधों में करें, फिर आप एक अच्छा निबंध-लेखक बन सकते हैं।

लेकिन, सौ टके की एक बात- “काम ही व्यक्ति को कारीगर बनाता है।” अतः इस क्षेत्र में महारथ हासिल करने हेतु आप विभिन्न विषयों पर बार-बार निःसंकोच होकर निबंध ( Essay in Hindi ) लिखते या Essay Writing करते जाएँ। सफलता आपके कदम चूमेगी।

Some Essays in Hindi

10 thoughts on “14 tips for writing an essay in hindi | essay writing in hindi”.

Thanks for any other excellent post. The place else could anybody get that kind of information in such a perfect method of writing? I’ve a presentation next week, and I’m at the search for such info.

Heya i am for the first time here. I came across this board and I find It truly useful & it helped me out much. I hope to give something back and aid others like you helped me. I saw similar here: Sklep online

Aw, this was an exceptionally good post. Taking the time and actual effort to make a really good article… but what can I say… I put things off a lot and don’t manage to get nearly anything done. I saw similar here: Sklep internetowy

Hey! Do you know if they make any plugins to help with SEO? I’m trying to get my blog to rank for some targeted keywords but I’m not seeing very good success. If you know of any please share. Thanks! You can read similar art here: Sklep internetowy

Hi! Do you know if they make any plugins to assist with Search Engine Optimization? I’m trying to get my blog to rank for some targeted keywords but I’m not seeing very good results. If you know of any please share. Thanks! You can read similar blog here: Sklep online

It’s very interesting! If you need help, look here: ARA Agency

Hey there! Do you know if they make any plugins to assist with SEO?

I’m trying to get my blog to rank for some targeted keywords but I’m not seeing very good success. If you know of any please share. Appreciate it! You can read similar article here: Sklep internetowy

Hello! Do you know if they make any plugins to help with Search Engine Optimization? I’m trying to get my site to rank for some targeted keywords but I’m not seeing very good results. If you know of any please share. Appreciate it! You can read similar blog here: Backlinks List

Wow, fantastic weblog format! How lengthy have you been blogging for?

you make running a blog look easy. The full look of your site is wonderful, let alone the content material! You can see similar here sklep

Leave a Comment Cancel reply

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

whatsapp

Connect on Whatsapp : +1 206 673 2541 , Get Homework Help 24x7, 100% Confidential. Connect Now

Guide to Writing a Hindi Essay

Guide to Writing a Hindi Essay

Do you need help understanding the basics of writing a great essay in Hindi? It can be difficult to know where to begin, but this guide is here to help! In it, we’ll discuss all the steps necessary for creating an effective essay in Hindi. From researching your topic and developing an outline to crafting compelling sentences with accurate grammar and vocabulary – we’ve got you covered. So read on – let’s get started on that winning essay!

1. Introduction to Hindi Essay Writing

Essay Writing in Hindi Hindi is one of the most widely spoken languages on Earth and it has been used for centuries to communicate. It is also a popular language amongst essay writers, as they can express their ideas fluently with its distinctive dialects. Writing essays in Hindi may seem daunting but by following some simple steps you can become an expert at constructing effective essays.

The first step to writing a great essay in Hindi is understanding how to essay writing in Hindi correctly. This involves having an awareness of sentence structure, grammar rules, punctuation usage and appropriate vocabulary. You should pay close attention to the words you use so that your sentences are clear and concise without any errors or omissions. Additionally, when selecting topics for your essay consider relevant current events taking place around India which will be interesting for readers from all walks of life.

To ensure your final piece reads well incorporate various approaches into each component of the article such as description, narration and argumentation; this will help engage readers more actively with the content presented within it . Furthermore , how to write clearly using persuasive techniques needs practice ; take advantage of opportunities like testing out exercises online or joining clubs where members help each other during workshops dedicated towards learning about proper formatting rules . Lastly , try reading successful papers written by professionals who know how to effectively compose pieces focused on topics connected with different areas relating  to hindi literature – these resources provide insightful knowledge on how best utilize words creatively throughout entire articles while keeping syntax organized logically together so that audiences can understand points being conveyed accurately concerning issues discussed .

2. Research – Methods and Tools for Gathering Information

Primary Research Gathering of primary research is the foundation for all successful projects. Primary research can be conducted through direct observation and interviews, both on-site and online. Properly formulated interview questions should be used to elicit engaging responses from participants while efficiently obtaining the necessary information. Additionally, surveys are a great tool for collecting data that specifically answer certain defined parameters in an efficient manner.

Secondary Research Effective projects often include secondary sources such as books, academic articles, journal entries, websites, blogs etc., which provide valuable insight into context or background needed to support conclusions found via primary research methods. For example when researching how to essay writing in Hindi , one might use previous published works from past students who have tried their own attempts at it as guides towards completing its challenge more successfully with each iteration. Furthermore by reading up on existing work before beginning ones own project concerning this topic regardless of language concerned will give any researcher a better understanding regarding what has been done previously so they do not unintentionally repeat something already covered exhaustively.

Also critical analysis needs to be applied during the process of gathering data from these varied sources since much may have changed over time due to technological advancements alone; meaning new approaches besides old must also be taken into consideration when conducting valid research related t o how to essay writing in Hindi. .

3. Structuring Your Hindi Essay

Writing an essay in Hindi is a rewarding experience, but it can be challenging for students who are not familiar with the language. To tackle this challenge, there are certain steps that must be taken when structuring your essay.

  • Decide on your topic: Before you start writing, decide on the main idea or theme of your essay and make sure it ties into what you already know about Hindi.
  • Organize Your Ideas: After deciding the focus of your essay, come up with several points that relate to each other. Make sure they flow logically from one point to another so readers understand how each point relates back to the main concept.

Once these basic components have been established, you’re ready to get down to business! Find resources such as books and online articles related to “how-to” topics like grammar rules and sentence structure tips specific for writing an excellent Hindu Essay. When putting together all required elements (introduction body conclusion etc..) think about how these fit within expected conventions used in essays written by native speakers of hindi as outlined through various sources discussing “How To Write An Excellent Hindu Essay”. Additionally if needed consult reference material like dictionaries or grammar guides specifically designed for use while constructing complete sentences meaningfully expressing intended thoughts both audibly and visually.

4. Captivating the Reader with Engaging Content

Making Content Engaging Creating content that sparks interest and engages readers is essential for any writer. In order to captivate the reader, a few tips should be considered:

  • Write with purpose – ensure each sentence has a clear objective and moves your message forward.
  • Keep it concise – get to the point quickly without using unnecessary words or clauses.

Once these two elements are established, there are many techniques writers can use to keep their readers interested in reading further. In particular, Hindi essay writing provides several useful methods which writers of all backgrounds can apply – such as providing context before introducing one’s main topic or argument. Additionally, incorporating helpful visuals such as graphs and tables into posts can help convey complex ideas more easily while keeping readers engaged.

5. Crafting a Convincing Argument

A convincing argument should be based on facts, rationale, and logic. To craft a convincing argument it is important to consider the audience you are writing for as this can influence what points you should make and how strong they need to be. In addition, one must ensure that all statements made are accurate and supported by evidence.

  • Understand Your Audience:

It is important to understand who your audience will likely be when crafting an argument in order to tailor your message accordingly. Consider their background knowledge level of the subject at hand; if they have little understanding then further explanation may need to occur while those knowledgeable about the topic won’t require much elaboration. Additionally, take into account any potential bias or preconceived notions which could negatively affect reception of presented information.

  • Gather Supporting Evidence:

6. Review, Edit & Submit: Polishing Your Work of Art

Before submitting your work, it is essential to review, edit and proof read your essay. A great way of polishing your writing work of art is by following these steps:

  • Reread Your Work. Read out loud what you have written to pick up on any errors or clumsy phrasing that stands out when heard.
  • Check for Grammar & Spelling Errors. Utilize online resources like spell checkers and grammar tools if needed. For an extra set of eyes, get someone else to go over the paper with a fine-toothed comb.

.For those learning how to write essays in Hindi language specifically, utilize similar techniques such as reading aloud three times (पाठ की बारी तीन बा Results will vary greatly depending on the type of project being completed but reviewing each aspect carefully can save time later down the road%.

When edits are done, reread entire piece again thoroughly before submission – this final check ensures nothing has been missed or overlooked previously during editing process% Reviewing content also helps build confidence in author’s own ability/work which could help lead them closer towards success%. After completing all review steps mentioned above ensure that no further changes need be made then submit finished product knowing that special care was taken throughout entire process accordingly!

7 Lasting Impression: Making an Impact Through Your Writing

Writing is an essential tool for making a lasting impression. Whether it be in the form of creative writing, business communication or academic essays, effective and quality writing is key to having your work remembered. When undertaking this task it is important to keep these seven focus points in mind;

  • Audience: Clearly identify who you are writing for – tailoring language and information specific to their needs.
  • Structure: Plan out the content accordingly – use headings/subheadings along with bullet points where necessary as they help the reader understand your message quickly and easily.
  • Clarity & flow: Ensure that there are no grammar and spelling errors present. Make sure each sentence reads well flows from one idea to another without any abrupt changes in topic or style.

Building on those steps, here’s how you can make a lasting impact through your own writing;

Begin by researching extensively so that your facts are accurate enough to write confidently about them. Keep the audience in mind as every piece of written work should have purpose beyond just passing time — ask yourself whether what you’re saying dovetails into some larger goal? Break down complex ideas into smaller chunks so that readers don’t get lost while reading — adding visual elements such as graphs, charts etc can go a long way too! Finally end strong on whatever note serves best for its purpose but also ensure clarity with regards to call-to-action (if applicable). By following these simple practices you will be able create something which has potential timelessness associated with it ! We hope this guide has been of help to you as you start your journey into writing Hindi essays. After all, it is through our own language and expression that we get to express ourselves the best! So pick up a pen and paper, let those ideas flow in Hindi and watch them turn into something beautiful. Happy Writing!

WhatsApp us

500+ विषयों पर हिंदी निबंध

Hindi Essay Writing: विद्यार्थी जीवन में निबंध लेखन एक अहम हिस्सा है। विद्यार्थी के जीवन में हर बार ऐसे अवसर आते हैं, जहाँ पर निबन्ध लिखने को दिए जाते हैं। निबंध लेखन का कार्य हर तरह की परीक्षा में भी विशेष रूप से पूछा जाता है।

Hindi Essay Writing

यहां पर हमने अलग-अलग विषयों पर क्रमबद्ध हिंदी निबंध (hindi nibandh) लिखे है। यह निबन्ध सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए मददगार साबित होंगे। यहां पर वर्तमान विषयों पर हिंदी में निबंध (current essay topics in hindi) उपलब्ध किये है।

हिंदी निबंध (Essay Writing in Hindi)

भारत देश से जुड़े निबन्ध, पर्यावरण और पर्यावरण मुद्दों से जुड़े निबंध, महान हस्तियों पर निबन्ध, सामाजिक मुद्दों पर निबन्ध, नैतिक मूल्य पर निबंध, तकनीकी से जुड़े निबंध, शिक्षा से जुड़े निबन्ध, पशु पक्षियों पर निबंध, त्योहारों पर निबंध, विभिन्न उत्सवों पर निबंध, स्वास्थ्य से जुड़े निबंध, प्रकृति पर निबंध, खेल पर निबंध, महत्त्व वाले निबन्ध, शहरों और राज्यों पर निबन्ध, संरक्षण पर निबन्ध, नारी शक्ति पर निबंध, रिश्तों पर निबंध, फल और सब्जियों पर निबंध, फूलों, पौधों और पेड़ों पर निबन्ध, प्रदूषण पर निबंध, लोकोक्ति पर निबन्ध, धरोहर पर निबन्ध, निबंध क्या है.

निबंध एक प्रकार की गद्य रचना होती है, जिसमें किसी विशेष विषय के बारे में विस्तार से वर्णन किया जाता है। निबंध के जरिये निबंध लिखने वाला व्यक्ति या लेखक अपने भावों और विचारों को बहुत ही प्रभावशाली तरीके से व्यक्त करने की कोशिश करता है।

निबंध लिखने वाले व्यक्ति को उस विषय के बारे में पूर्ण रूप से जानकारी होने के साथ ही उसकी उस भाषा पर अच्छी पकड़ भी होना बहुत जरूरी है। सभी व्यक्तियों की अपनी अलग-अलग अभिव्यक्ति होती है। इस कारण ही हमें एक विषय पर बहुत से तरीकों में लिखे निबंध मिल जायेंगे।

निबंध की परिभाषा को आसान से शब्दों में बताये तो “किसी विशेष विषय पर भावों और विचारों को क्रमबद्ध तरीके से सुगठित, सुंदर और सुबोध भाषा में लिखी रचना को निबंध कहते हैं।”

निबन्ध लिखते समय इन बातों का रखे विशेष ध्यान

  • लिखा गया निबंध बहुत ही आसान शब्दों में लिखा हो, जिससे कि पढ़ने वाले को कोई मुश्किल नहीं हो।
  • निबंध में भाव और विचार की पुनरावृत्ति नहीं करें।
  • निबंध लिखते समय उसे विभिन भागों में बाँट देना चाहिए, जिससे पढ़ने आसानी हो जाये।
  • वर्तनी शुद्ध रखे और विराम चिन्हों को सही से प्रयोग करें।
  • जिस विषय पर निबंध लिखा जा रहा है, उस विषय के बारे में विस्तार से चर्चा लिखे।

इन बातों को ध्यान में रखकर आप एक बहुत ही सुंदर और अच्छा निबंध लिख सकते हैं। जब आप निबंध पूरी तरह से लिख ले तो उसके बाद आप पुनः एक बार पूरे निबंध को जरूर पढ़ लें और त्रुटी की जांच कर लें, जिससे निबंध और भी अच्छा हो जाएगा।

निबंध के अंग

निबन्ध को विशेष रूप से तीन भागों में विभाजित किया गया है:

भूमिका/प्रस्तावना

उपसंहार/निष्कर्ष.

यह निबंध का सबसे पहला भाग होता है। इससे ही निबंध की शुरुआत होती है। इसमें जिस विषय पर निबन्ध लिख रहे हैं उसके बारे में सामान्य और संक्षिप्त जानकारी दी जाती है।

इसे लिखते समय यह विशेष ध्यान रखें कि यह बहुत छोटा होने के साथ ही सारगर्भित भी हो, जिससे पाठक को पढ़ते समय आनंद की अनुभूति हो और उस निबंध को पूरा पढ़े।

यह निबंध का अगला भाग है जिसमें विषय के बारे में विस्तार से चर्चा की जाती है। इस भाग को लिखते समय आपके पास जितनी भी जानकारी उपलब्ध है, उसे क्रमबद्ध करके अलग-अलग अनुच्छेद में प्रस्तुत करना होता है।

इसमें आपका क्रम पूरी तरह से व्यवस्थित होना चाहिए। हर दूसरा अनुच्छेद पहले अनुच्छेद से सम्बंधित होना चाहिए।

यह निबंध का सबसे अंतिम भाग होता है। इस भाग तक पहुँचने से पहले पूरी चर्चा पहले के अनुच्छेदों में कर ली जाती है। यहां पर पूरी चर्चा का सारांश छोटे से रूप में प्रस्तुत किया जाता है।

निबंध लिखते समय लिखा गया निबंध बहुत ही आसान शब्दों में लिखा हो, जिससे कि पढ़ने वाले को कोई मुश्किल नहीं हो। निबंध में भाव और विचार की पुनरावृत्ति नहीं करें। निबंध लिखते समय उसे विभिन भागों में बाँट देना चाहिए, जिससे पढ़ने आसानी हो जाये आदि बातों का ध्यान रखा जाता है।

एक अच्छा निबन्ध लिखने के लिए उस निबंध में लेखक वैचारिक स्तर, चिन्तन, जिस विषय पर निबंध है। उसकी अच्छी विचारधारा आदि का स्पष्ट होना जरूरी है। इसके अलावा लेखक को किसी और के मत से बिना प्रभावित हुए निबन्ध लिखना चाहिए।

उपसंहार में निबंध का सार, अभिप्राय, स्पष्टीकरण आदि विवरण लिखा जाता है।

निबंध की शुरुआत स्पष्ट, संक्षिप्त और आकर्षक शब्दों से करनी चाहिए, जिससे पाठक के ध्यान के साथ ही जिज्ञासा बढ़ती रहे।

हमने यहां पर हिंदी निबंध संग्रह (essay writing in hindi) शेयर किया है। यहां पर सभी महत्वपूर्ण हिंदी में निबंध उपलब्ध किये है।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको यह hindi essay का संग्रह पसंद आएगा, इसे आगे शेयर जरुर करें। यदि इससे जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है तो कमेंट बॉक्स में जरुर बताएं।

अन्य महत्वपूर्ण जानकारी

500+ प्रेरणादायक लोगों की जीवनियाँ

सम्पूर्ण हिंदी व्याकरण

संस्‍कृत निबंध संग्रहण

1000+ हिंदी मुहावरे (अर्थ और वाक्य प्रयोग सहित)

Rahul Singh Tanwar

Related Posts

Leave a comment जवाब रद्द करें.

Cambridge Dictionary

  • Cambridge Dictionary +Plus

Translation of essay – English–Hindi dictionary

Your browser doesn't support HTML5 audio

  • I want to finish off this essay before I go to bed .
  • His essay was full of spelling errors .
  • Have you given that essay in yet ?
  • Have you handed in your history essay yet ?
  • I'd like to discuss the first point in your essay.

(Translation of essay from the Cambridge English–Hindi Dictionary © Cambridge University Press)

Examples of essay

Translations of essay.

Get a quick, free translation!

{{randomImageQuizHook.quizId}}

Word of the Day

A scripted speech or broadcast has been written before it is read or performed.

Varied and diverse (Talking about differences, Part 1)

Varied and diverse (Talking about differences, Part 1)

essay writing definition in hindi

Learn more with +Plus

  • Recent and Recommended {{#preferredDictionaries}} {{name}} {{/preferredDictionaries}}
  • Definitions Clear explanations of natural written and spoken English English Learner’s Dictionary Essential British English Essential American English
  • Grammar and thesaurus Usage explanations of natural written and spoken English Grammar Thesaurus
  • Pronunciation British and American pronunciations with audio English Pronunciation
  • English–Chinese (Simplified) Chinese (Simplified)–English
  • English–Chinese (Traditional) Chinese (Traditional)–English
  • English–Dutch Dutch–English
  • English–French French–English
  • English–German German–English
  • English–Indonesian Indonesian–English
  • English–Italian Italian–English
  • English–Japanese Japanese–English
  • English–Norwegian Norwegian–English
  • English–Polish Polish–English
  • English–Portuguese Portuguese–English
  • English–Spanish Spanish–English
  • English–Swedish Swedish–English
  • Dictionary +Plus Word Lists
  • English–Hindi    Noun
  • Translations
  • All translations

To add essay to a word list please sign up or log in.

Add essay to one of your lists below, or create a new one.

{{message}}

Something went wrong.

There was a problem sending your report.

ESSAY KI DUNIYA

HINDI ESSAYS & TOPICS

Essay in Hindi Language – निबंध

December 12, 2017 by essaykiduniya

Essay in Hindi –   These Hindi essays are for Nursery Class, Class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12. We provide various types of essay in Hindi such as education, speech, science and technology, India, festival, national day, environmental issues, social issues, social awareness, ethical values, nature and health etc in 100, 200, 300, 400, 500, 600, 700, 800, 900, 1000, 1100, 1200, 1300, 1400, 1500 and 1600 words.

ये हिंदी निबंध नर्सरी कक्षा से कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 के लिए हैं। हम शिक्षा, भाषण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, एनीमा, भारत, त्योहार, राष्ट्रीय दिवस, पर्यावरण मुद्दों, सामाजिक मुद्दे, सामाजिक जागरूकता, नैतिक मूल्यों, प्रकृति और स्वास्थ्य आदि जैसे विभिन्न प्रकार के निबंधों को हिंदी में प्रदान करते हैं।

हर कोई इन निबंध को आसानी से समझ सकता है क्योंकि हमने  इनमें बहुत सरल और आसान शब्दों का इस्तेमाल किया है। । ये किसी छात्र द्वारा आसानी से समझे जा सकते है| ऐसे निबंध छात्रों को भारतीय संस्कृति, विरासत, स्मारकों, प्रसिद्ध स्थानों, शिक्षकों, माताओं, पशुओं, पारंपरिक त्योहारों, घटनाओं, अवसरों, प्रसिद्ध व्यक्तित्वों, किंवदंतियों, सामाजिक मुद्दों और इतने सारे अन्य विषयों के बारे में जानने में मदद और प्रेरित कर सकते हैं। हमने बहुत विशिष्ट और सामान्य विषय निबंध प्रदान किए हैं। 

ESSAY IN HINDI – निबंध

निबंध कैसे लिखें

त्योहारों पर निबंध – Essay on Festivals

महान व्यक्तियों पर निबंध – Essay on great personalities 

पर्यावरण के मुद्दें और जागरूकता पर निबंध – Essay on Environment 

स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती पर निबंध – Essay on Health

 रिश्तो पर निबंध – Essay on Relations

खेल पर निबंध – Essay on Sports

सामाजिक मुद्दे और सामाजिक जागरूकता पर निबंध – Essay on Social Issues

निबंध – Essay in Hindi

भारत पर निबंध –  Essay on India

जानवर पर निबंध – Essay on Animals

हिंदी निबंध – Hindi Essay

We hope that you will like these Essay in Hindi Language. Please do Like, Share and Comment.

essay writing definition in hindi

SHABDKOSH

English Hindi Dictionary | अंग्रेज़ी हिन्दी शब्दकोश

The keyboard uses the ISCII layout developed by the Government of India. It is also used in Windows, Apple and other systems. There is a base layout, and an alternative layout when the Shift key is pressed. If you have any questions about it, please contact us.

  • शब्द प्रचलन
  • शब्द सहेजें

essay का हिन्दी अर्थ

Essay के हिन्दी अर्थ, संज्ञा , क्रिया , essay शब्द रूप, essay की परिभाषाएं और अर्थ अंग्रेजी में, essay संज्ञा.

निबंध, ... सदस्यता लें

essay क्रिया

  • assay , attempt , seek , try
  • "He sought to improve himself"
  • "He tried to shake off his fears"
  • "She always seeks to do good in the world"
  • "The infant had essayed a few wobbly steps"
  • "The police attempted to stop the thief"

examine , prove , test , test , try out , try

  • "Test this recipe"
  • "This approach has been tried with good results"

essay के समानार्थक शब्द

  • examine , prove , test , try , try out

essay writing definition in hindi

An essay is, generally, a piece of writing that gives the author's own argument, but the definition is vague, overlapping with those of a letter, a paper, an article, a pamphlet, and a short story. Essays have been sub-classified as formal and informal: formal essays are characterized by "serious purpose, dignity, logical organization, length," whereas the informal essay is characterized by "the personal element, humor, graceful style, rambling structure, unconventionality or novelty of theme," etc.

(निबन्ध ): गद्य लेखन की एक विधा है। लेकिन इस शब्द का प्रयोग किसी विषय की तार्किक और बौद्धिक विवेचना करने वाले लेखों के लिए भी किया जाता है। निबन्ध के पर्याय रूप में सन्दर्भ, रचना और प्रस्ताव का भी उल्लेख किया जाता है। लेकिन साहित्यिक आलोचना में सर्वाधिक प्रचलित शब्द निबन्ध ही है। इसे अंग्रेजी के कम्पोज़ीशन और एस्से के अर्थ में ग्रहण किया जाता है।

essay के लिए अन्य शब्द?

essay के उदाहरण और वाक्य

essay के राइमिंग शब्द

अंग्रेजी हिन्दी अनुवादक

Words starting with

Essay का हिन्दी मतलब.

essay का हिन्दी अर्थ, essay की परिभाषा, essay का अनुवाद और अर्थ, essay के लिए हिन्दी शब्द। essay के समान शब्द, essay के समानार्थी शब्द, essay के पर्यायवाची शब्द। essay के उच्चारण सीखें और बोलने का अभ्यास करें। essay का अर्थ क्या है? essay का हिन्दी मतलब, essay का मीनिंग, essay का हिन्दी अर्थ, essay का हिन्दी अनुवाद

"essay" के बारे में

essay का अर्थ हिन्दी में, essay का इंगलिश अर्थ, essay का उच्चारण और उदाहरण वाक्य। essay का हिन्दी मीनिंग, essay का हिन्दी अर्थ, essay का हिन्दी अनुवाद

SHABDKOSH Apps

Download SHABDKOSH Apps for Android and iOS

विज्ञापन-मुक्त अनुभव और भी बहुत कुछ।

essay writing definition in hindi

Ways to improve your spoken English skills

essay writing definition in hindi

English tenses

essay writing definition in hindi

Shakespearean phrases that are used even today

Our Apps are nice too!

Dictionary. Translation. Vocabulary. Games. Quotes. Forums. Lists. And more...

essay writing definition in hindi

Vocabulary & Quizzes

Try our vocabulary lists and quizzes.

Vocabulary Lists

We provide a facility to save words in lists.

Basic Word Lists

Custom word lists.

You can create your own lists to words based on topics.

Login/Register

To manage lists, a member account is necessary.

Share with friends

Social sign-in.

essay writing definition in hindi

Ad-free experience & much more

Translation

SHABDKOSH Logo

If you want to access full services of shabdkosh.com

Please help Us by disabling your ad blockers.

or try our SHABDKOSH Premium for ads free experience.

Steps to disable Ads Blockers.

  • Click on ad blocker extension icon from browser's toolbar.
  • Choose the option that disables or pauses Ad blocker on this page.
  • Refresh the page.

Spelling Bee

Hear the words in multiple accents and then enter the spelling. The games gets challenging as you succeed and gets easier if you find the words not so easy.

The game will show the clue or a hint to describe the word which you have to guess. It’s our way of making the classic hangman game!

Antonym Match

Choose the right opposite word from a choice of four possible words. We have thousand of antonym words to play!

भाषा बदलें -

Language resources, संपर्क में रहें.

  • © 2024 SHABDKOSH.COM, सर्वाधिकार सुरक्षित.
  • प्रयोग की शर्तें
  • निजी सूचना नीति

Liked Words

Shabdkosh Premium

SHABDKOSH Premium आज़माएं और प्राप्त करें

  • विज्ञापन मुक्त अनुभव
  • अनुवाद पर कोई सीमा नहीं
  • द्विभाषी पर्यायवाची अनुवाद।
  • सभी शब्दावली सूचियों और प्रश्नोत्तरी तक पहुंच।
  • अर्थ कॉपी करें.

क्या आप पहले से ही एक प्रीमियम उपयोगकर्ता हैं?

  • Study Material

essay writing definition in hindi

500+ विषयों पर हिंदी निबंध – Essays in Hindi Topics & Ideas

निबंध लिखते समय, कई कॉलेज और हाई स्कूल के छात्रों को लेखक के ब्लॉक का सामना करना पड़ता है और एक निबंध के लिए विषयों और विचारों के बारे में सोचने का कठिन समय होता है। इस लेख में, हम विभिन्न श्रेणियों जैसे तर्कपूर्ण निबंध, प्रौद्योगिकी पर निबंध, 5 वीं, 6 वीं, 7 वीं, 8 वीं कक्षा के छात्रों के लिए पर्यावरण निबंध जैसे कई अच्छे निबंध विषयों को सूचीबद्ध करेंगे। निबंध विषयों की सूची सभी के लिए है – बच्चों से लेकर कॉलेज के छात्रों तक। हमारे पास निबंधों का सबसे बड़ा संग्रह है। एक निबंध और कुछ नहीं बल्कि एक सामग्री है जो लेखक या लेखक की धारणा से लिखी गई है। निबंध एक कहानी, पैम्फलेट, थीसिस, आदि के समान हैं। निबंध के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि आप किसी भी प्रकार की भाषा का उपयोग कर सकते हैं – औपचारिक या अनौपचारिक। यह जीवनी, किसी की आत्मकथा है। निम्नलिखित 100 निबंध विषयों की एक महान सूची है। हम जल्द ही 400 और जोड़ेंगे!

Essays in Hindi Topics & Ideas

  • मोर पर निबंध – Essay on Peacock in Hindi
  • रोल मॉडल पर निबंध – Essay on Role Model in Hindi
  • जीवन पर निबंध – Essay on Life in Hindi
  • शिष्टाचार पर निबंध – Essay on Good Manner in Hindi
  • एकता में बल है पर निबंध – Essay on Unity is Strength in Hindi
  • स्वास्थ्य पर निबंध – Essay on Health in Hindi
  • होली पर निबंध – Essay on Holi in Hindi
  • मेक इन इंडिया पर निबंध – Essay on Make in India in Hindi
  • कैरियर पर निबंध – Essay on Career in Hindi
  • फुटबॉल पर निबंध – Essay on Football in Hindi
  • कल्पना चावला पर निबंध – Essay on Kalpana Chawla in Hindi
  • नरेंद्र मोदी पर निबंध – Essay on Narendra Modi in Hindi
  • वैश्विकरण या ग्लोबलाइजेशन पर निबंध – Essay on Globalization in Hindi
  • भारत की विरासत पर निबंध – Essay On Indian Heritage in Hindi
  • बिजली बचाओ पर निबंध – Save Electricity Essay in Hindi
  • संगीत पर निबंध – Essay on Music in Hindi
  • सूखा या अकाल पर निबंध – Essay on Drought in Hindi
  • इंदिरा गांधी पर हिन्दी निबंध – Indira Gandhi Essay in Hindi
  • खुशी पर निबंध – Essay on Happiness in Hindi
  • जवाहरलाल नेहरू पर निबंध – Jawaharlal Nehru Essay in Hindi
  • किसान पर निबंध – Essay on Farmer in Hindi
  • विज्ञान पर निबंध – Essay on Science in Hindi
  • जल का महत्व पर निबंध – Essay on Importance of Water in Hindi
  • Essay on Laughter is the Best Medicine in Hindi
  • Essay on Life in Village in Hindi – गांव में जीवन पर निबंध
  • ट्रैफिक जाम पर निबंध – Essay on Traffic Jam in Hindi
  • मेरे गाँव पर निबंध – Essay On My Village in Hindi
  • लाल बहादुर शास्त्री पर निबंध – Essay on Lal Bahadur Shastri in Hindi
  • पर्यावरण पर निबंध – Environment Essay in Hindi
  • Essay on Sachin Tendulkar in Hindi – सचिन तेंदुलकर पर निबंध
  • झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई पर निबंध – Rani Lakshmi Bai Essay in Hindi
  • क्रिकेट पर निबंध – Essay on Cricket in Hindi
  • मेरा शौक – रूचि पर निबंध | Essay on My Hobby in Hindi
  • डॉक्टर पर निबंध – Essay on Doctor in Hindi
  • खेल कूद का महत्व – Essay on Importance of Sports in Hindi
  • पेड़ों पर निबंध – Essay on Trees in Hindi
  • मानव अधिकार पर निबंध – Essay on Human Rights in Hindi
  • समयनिष्ठता पर निबंध – Essay on Punctuality in Hindi
  • क्रिसमस पर निबंध – Essay on Christmas in Hindi
  • शिक्षक पर निबंध – Essay on Teacher in Hindi
  • प्रकृति पर निबंध – Essay on Nature in Hindi
  • गाय पर निबंध – Essay on Cow in Hindi
  • भारत में लोकतंत्र पर निबंध – Essay on Democracy in India
  • शहीद भगत सिंह पर निबंध – Bhagat Singh Essay in Hindi
  • इंटरनेट पर निबंध – Essay On Internet in Hindi
  • स्वामी विवेकानंद पर निबंध – Essay on Swami Vivekanand in Hindi
  • सुभाष चन्द्र बोस पर निबंध – Subhash Chandra Bose Essay in Hindi
  • मदर टेरेसा पर निबंध – Mother Teresa Essay In Hindi
  • दोस्ती पर निबंध – Essay on Friendship in Hindi
  • कंप्यूटर पर निबंध – Essay on Computer in Hindi
  • देश भक्ति पर निबन्ध – Essay on Patriotism in Hindi
  • Artificial Intelligence Essay in Hindi – आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस निबंध
  • Sardar Vallabhbhai Patel Essay in Hindi – वल्लभ भाई पटेल निबंध
  • जनसँख्या पर निबंध – Population Essay in Hindi
  • जंक (फास्ट) फूड के नुकसान पर निबंध – Harmful Effects of Junk Food
  • ताजमहल पर निबंध – Essay on Tajmahal in Hindi
  • सड़क दुर्घटना पर निबंध – Essay on Road Accident in Hindi
  • मेरे प्रिय शिक्षक पर निबंध – My Favorite Teacher Essay in Hindi
  • पिता पर हिन्दी में निबंध – My Father Essay in Hindi
  • वायु प्रदूषण पर निबंध – Air Pollution Essay in Hindi
  • बरसात के दिनों पर निबंध – Essay on Rainy Days in Hindi
  • पृथ्वी बचाओ पर निबंध – Save Earth Essay in Hindi
  • मेरा सपना पर निबंध – My Dream Essay in Hindi
  • कन्या भ्रूण हत्या पर निबंध – Female Foeticide Essay in Hindi
  • सुनामी पर निबंध – Tsunami Essay in Hindi
  • समय प्रबंधन पर निबंध – Essay on Time Management in Hindi
  • Save Water Save Life Essay in Hindi – जल बचाओ जीवन बचाओ
  • लोकतंत्र पर निबंध – Essay on Democracy in Hindi
  • पर्यावरण बचाओ पर निबंध – Save Environment Essay in Hindi
  • साइबर क्राइम पर निबंध – Essay on Cyber Crime in Hindi
  • Indian Culture and Tradition Essay in Hindi – भारतीय संस्कृति निबंध
  • My Aim of Life Essay in Hindi – मेरे जीवन का लक्ष्य पर निबंध
  • Gender Equality Essay in Hindi – लिंग समानता पर निबंध
  • Essay on Health and Hygiene in Hindi – स्वास्थ्य और स्वच्छता निबंध
  • Essay on India in Hindi – भारत पर हिन्दी निबंध
  • 10 Lines on Mangalyaan in Hindi – मंगलयान पर 10 पंक्तियाँ
  • बैडमिंटन पर निबंध – Essay on Badminton in Hindi
  • माँ पर निबंध – Essay on Mother in Hindi
  • रबीन्द्रनाथ टैगोर पर निबंध – Rabindranath Tagore Essay in Hindi
  • बाढ़ पर निबंध – Essay on Flood in Hindi
  • दशहरा पर निबंध – Essay on Dussehra in Hindi
  • स्वास्थ्य ही धन है निबंध – Health is Wealth Essay in Hindi
  • आर्यभट्ट पर निबंध – Essay On Aryabhatta in Hindi
  • सोशल मीडिया पर निबंध – Essay on Social Media in Hindi
  • Essay on My Ambition in Hindi – मेरे जीवन का उद्देश्य पर निबंध
  • बेहतर पर्यावरण के लिए ईंधन बचाने पर निबंध – Save Fuel Essay
  • ध्वनि प्रदूषण पर निबंध – Noise Pollution Essay in Hindi
  • गर्मी की छुट्टी पर निबंध – Summer Vacation Essay in Hindi
  • शिक्षा पर निबंध – Education Essay in Hindi
  • टेलीविजन पर निबंध – Television Essay in Hindi
  • जल प्रदूषण पर निबंध – Essay On Water Pollution In Hindi
  • विज्ञान के चमत्कार पर निबन्ध – Wonders of Science in Hindi
  • टेक्नोलॉजी पर निबंध – Essay on Technology in Hindi
  • ईमानदारी सर्वश्रेष्ठ नीति है पर निबंध – Honesty is the Best Policy Hindi
  • मोबाइल फ़ोन पर निबंध – Essay on Mobile Phone in Hindi
  • Essay On Dowry System In Hindi – दहेज प्रथा पर निबंध
  • Science & Technology Essay Hindi – विज्ञान और तकनीकी निबंध
  • Essay on Rainy Season in Hindi – वर्षा ऋतु पर निबंध
  • Environmental Pollution Essay in Hindi – पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध
  • Essay on Children’s Day in Hindi – बाल दिवस पर निबंध
  • Essay on Raksha Bandhan in Hindi – रक्षाबंधन पर निबंध
  • Essay on Beti Bachao Beti Padhao – बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ निबंध
  • Essay on Freedom Fighters in Hindi – स्वतंत्रता सेनानियों पर निबंध
  • Essay on My Favourite Book in Hindi – मेरी पसंदीदा पुस्तक पर निबंध
  • Essay on My Family in Hindi – मेरा परिवार पर निबंध
  • Essay on Discipline in Hindi – अनुशासन पर निबंध
  • Essay on Surgical Strike in Hindi – सर्जिकल स्ट्राइक पर निबंध
  • Essay on Dog in Hindi – कुत्ता पर निबंध
  • Essay on Gandhi Jayanti in Hindi – गांधी जयंती पर निबंध
  • Corruption Essay in Hindi – भ्रष्टाचार पर हिन्दी में निबंध
  • Essay on Global Warming in Hindi – ग्लोबल वार्मिंग पर निबंध
  • पानी बचाओ पर निबंध – Essay on Save water in Hindi
  • ए.पी.जे. अब्दुल कलाम पर निबंध – APJ Abdul Kalam Essay in Hindi
  • आतंकवाद पर निबंध – Essay on Terrorism in Hindi
  • Essay on My Best Friend in Hindi – मेरा प्रिय मित्र निबंध
  • बेटी बचाओ निबंध – Save Girl Child Essay in Hindi
  • शिक्षक दिवस पर निबंध – Essay on Teachers Day in Hindi
  • पेड़ बचाओ पर निबंध – Essay on Save Trees in Hindi
  • गर्मी का मौसम पर निबंध – Essay On Summer Season in Hindi
  • विमुद्रीकरण पर निबंध – Essay on Demonetisation in Hindi
  • बाल मजदूरी पर निबंध – Essay on Child Labour in Hindi
  • Essay on My school in Hindi – मेरा विद्यालय पर निबंध
  • Essay on GST in Hindi – गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) निबंध
  • Essay On Mahatma Gandhi In Hindi – महात्मा गांधी पर निबंध
  • 10 Lines on My teacher in Hindi – शिक्षक के बारे में 5 पंक्तियाँ
  • Women empowerment Essay in Hindi – महिला सशक्तिकरण पर निबंध
  • Essay on Diwali in Hindi – हिन्दी निबंध: दीपावली
  • प्रदूषण पर निबंध – Essay on Pollution in Hindi
  • स्वच्छ भारत अभियान निबंध – Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi
  • Essay on Durga Puja in Hindi – दुर्गा पूजा पर शब्द निबंध

टेक्नोलॉजी पर निबंध

  • प्रौद्योगिकी (टेक्नोलॉजी) पर निबंध
  • कंप्यूटर पर निबंध
  • विज्ञान का आश्चर्य पर निबंध
  • मोबाइल फोन पर निबंध
  • इंटरनेट पर निबंध
  • अखबार पर निबंध
  • विज्ञान पर निबंध

घटनाओं पर त्योहारों पर निबंध

  • दिवाली पर निबंध
  • स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) पर निबंध
  • होली पर निबंध
  • शिक्षक दिवस पर निबंध
  • गर्मी की छुट्टियां पर निबंध
  • क्रिसमस पर निबंध
  • बाल दिवस पर निबंध
  • स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध
  • दुर्गा पूजा पर निबंध
  • Janmashtami पर निबंध
  • शिक्षा पर निबंध
  • शिक्षा का महत्त्व पर निबंध
  • शिक्षा मुफ्त होनी चाहिए पर निबंध
  • शिक्षा में प्रौद्योगिकी का योगदान पर निबंध

प्रसिद्ध नेताओं पर निबंध

  • Mahatma Gandhi पर निबंध
  • एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध
  • जवाहर लाल नेहरू पर निबंध
  • नेतृत्व पर निबंध
  • स्वामी विवेकानंद पर निबंध
  • मदर टेरेसा पर निबंध
  • रविंद्रनाथ टैगोर पर निबंध
  • Sardar Vallabhbhai Patel पर निबंध
  • सुभाष चंद्र बोस पर निबंध
  • अब्राहम लिंकन पर निबंध
  • मार्टिन लूथर किंग पर निबंध
  • Lal Bahadur Shashtri पर निबंध

पशु और पक्षियों पर निबंध

  • कुत्ता पर निबंध
  • सिंह पर निबंध
  • मोर पर निबंध
  • बिल्ली पर निबंध
  • मेरा पसंदीदा पशु पर निबंध
  • तोता पर निबंध

निबंध विषय अपने बारे में

  • मेरा परिवार पर निबंध
  • मेरा सबसे अच्छा दोस्त पर निबंध
  • मेरा शौक पर निबंध
  • मेरी माँ पर निबंध
  • मेरे पिता पर निबंध
  • मेरे पसंदीदा शिक्षक पर निबंध
  • जीवन में मेरा उद्देश्य पर निबंध
  • मेरा पसंदीदा खेल – बैडमिंटन पर निबंध
  • मेरा पसंदीदा खेल – निबंध पर निबंध
  • मेरा गाँव पर निबंध
  • मेरा घर पर निबंध
  • मेरा सपना पर निबंध
  • मेरी पसंदीदा पुस्तक पर निबंध
  • मेरी महत्वाकांक्षा पर निबंध
  • कैसे मैंने अपनी गर्मी की छुट्टी बिताई पर निबंध
  • मेरा पालतू कुत्ता पर निबंध
  • मेरे सपनों का भारत पर निबंध
  • मेरा स्कूल जीवन पर निबंध
  • मुझे अपने परिवार से प्यार है पर निबंध
  • मेरे पसंदीदा विषय पर निबंध
  • मेरा पसंदीदा खेल बैडमिंटन पर निबंध
  • माय फादर माय हीरो पर निबंध
  • मेरा बगीचा पर निबंध
  • खुद पर निबंध
  • मेरा स्कूल पुस्तकालय पर निबंध
  • मेरा पसंदीदा लेखक पर निबंध
  • गर्मियों की छुट्टी के लिए मेरी योजना पर निबंध
  • मेरा स्कूल पर निबंध
  • मित्रता पर निबंध

पर्यावरण और प्रकृति पर आधारित निबंध विषय

  • प्रदूषण पर निबंध
  • वैश्विक तापमान पर निबंध
  • जंगलों को बचाएं पर निबंध
  • वातावरण पर निबंध
  • पृथ्वी को बचाओ पर निबंध
  • वायु प्रदुषण पर निबंध
  • पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध
  • जल प्रदूषण पर निबंध
  • जल बचाओ पर निबंध
  • बारिश का मौसम पर निबंध
  • जलवायु परिवर्तन पर निबंध
  • प्रकृति पर निबंध
  • पेड़ पर निबंध
  • वृक्षों का महत्व पर निबंध
  • सर्दियों का मौसम पर निबंध
  • बारिश का दिन पर निबंध
  • वनों की कटाई पर निबंध
  • प्राकृतिक आपदा पर निबंध
  • बाढ़ पर निबंध
  • पर्यावरण बचाओ पर निबंध
  • गर्मी का मौसम पर निबंध
  • पेड़ हमारे सबसे अच्छे दोस्त पर निबंध
  • पानी पर निबंध

नीतिवचन पर आधारित निबंध विषय

  • स्वास्थ्य ही धन है पर निबंध
  • समय में एक सिलाई नौ बचाता है पर निबंध
  • एक सेब एक दिन डॉक्टर को दूर रखता है पर निबंध
  • जहां इच्छा है, वहां रास्ता है पर निबंध
  • समय और ज्वार किसी का इंतजार नहीं करते पर निबंध

6 वीं, 7 वीं, 8 वीं कक्षा के छात्रों के लिए निबंध विषय

  • ध्वनि प्रदूषण पर निबंध
  • देश प्रेम पर निबंध
  • स्वास्थ्य पर निबंध
  • भ्रष्टाचार पर निबंध
  • महिला सशक्तिकरण पर निबंध
  • संगीत पर निबंध
  • समय और ज्वार कोई नहीं के लिए प्रतीक्षा करें पर निबंध
  • विज्ञान और तकनीक पर निबंध
  • खेलो का महत्व पर निबंध
  • खेल और क्रीड़ा पर निबंध
  • खेल पर निबंध
  • समय प्रबंधन पर निबंध
  • स्वच्छता, भक्ति से भी बढ़कर है पर निबंध
  • स्वच्छता पर निबंध
  • रोम एक दिन में नहीं बना था पर निबंध
  • भूकंप पर निबंध
  • फ़ुटबॉल पर निबंध
  • ख़ुशी पर निबंध पर निबंध
  • सफलता पर निबंध
  • बेरोजगारी पर निबंध
  • स्वच्छ भारत पर निबंध
  • गाय पर निबंध
  • स्वयं का विवरण दें पर निबंध
  • हाथी पर निबंध
  • भारत के त्यौहार पर निबंध
  • जंगल पर निबंध
  • Ganesh Chaturthi पर निबंध
  • स्वस्थ भोजन पर निबंध
  • जल का महत्व पर निबंध
  • जंक फूड पर निबंध
  • जीएसटी पर निबंध
  • प्लास्टिक प्रदूषण पर निबंध
  • फैशन पर निबंध
  • पुस्तकें पर निबंध
  • चिकित्सक पर निबंध
  • आबादी पर निबंध
  • समय का मूल्य पर निबंध
  • ईमानदारी सर्वोत्तम नीति है पर निबंध
  • Gandhi Jayanti पर निबंध
  • आजादी पर निबंध
  • मानवाधिकार पर निबंध
  • ज्ञान ही शक्ति है पर निबंध
  • समलैंगिक विवाह पर निबंध
  • बचपन की यादें पर निबंध
  • साइबर अपराध पर निबंध
  • राजनीति पर निबंध
  • समय पर निबंध
  • योग पर निबंध
  • किसान पर निबंध
  • खाना पर निबंध
  • Kalpana Chawla पर निबंध
  • समय की पाबंदी पर निबंध
  • Rani Lakshmi Bai पर निबंध
  • प्रेरणास्रोत पर निबंध
  • वसंत ऋतु पर निबंध
  • पर्यटन पर निबंध
  • अनेकता में एकता पर निबंध
  • कृत्रिम होशियारी पर निबंध
  • ऑनलाइन खरीदारी पर निबंध
  • आदर करना पर निबंध
  • भारतीय संस्कृति पर निबंध
  • चुनाव पर निबंध
  • डाकिया पर निबंध
  • स्वस्थ जीवनशैली पर निबंध
  • छुट्टी का दिन पर निबंध
  • भारतीय शिक्षा प्रणाली पर निबंध
  • बचपन पर निबंध
  • आपदा प्रबंधन पर निबंध
  • पर्यावरण के मुद्दें पर निबंध
  • स्वतंत्रता सेनानी पर निबंध
  • बगीचा पर निबंध
  • दादा दादी पर निबंध
  • बेहतर पर्यावरण के लिए ईंधन बचाओ पर निबंध
  • समाचार पत्र का महत्व पर निबंध
  • Lal Bahadur Shastri पर निबंध
  • Raksha Bandhan पर निबंध
  • टीम वर्क पर निबंध
  • विश्व पर्यावरण दिवस पर निबंध
  • बैडमिंटन पर निबंध
  • Narendra Modi पर निबंध
  • ईमानदारी पर निबंध
  • धर्म क्या है पर निबंध
  • परोपकार घर से आरंभ होती है पर निबंध
  • पैसे पर निबंध
  • ट्रेन से यात्रा पर निबंध
  • आदर्श छात्र पर निबंध
  • जल बचाओ पृथ्वी बचाओ पर निबंध
  • पुनर्चक्रण पर निबंध
  • भारतीय किसान पर निबंध
  • भारत में महिलाओं की सुरक्षा पर निबंध
  • सर्वपल्ली राधाकृष्णन पर निबंध
  • मृत्यु दंड पर निबंध पर निबंध
  • कॉलेज का जीवन पर निबंध
  • प्राकृतिक संसाधन पर निबंध
  • साथियों का दबाव पर निबंध
  • प्रेरणा पर निबंध
  • पोषण बनाम प्रकृति पर निबंध
  • रोमियो और जूलियट पर निबंध
  • पीढ़ी का अंतर पर निबंध
  • Makar Sankranti पर निबंध
  • भारत का संविधान पर निबंध
  • बालिका शिक्षा पर निबंध
  • परिवार का महत्व पर निबंध
  • स्वतंत्रता दिवस का महत्व पर निबंध
  • प्रतिभा पलायन पर निबंध
  • अपना वहि जॊ आवे काम पर निबंध
  • काम बोलता है बातें नहीं पर निबंध पर निबंध
  • हर चमकती चीज सोना नहीं होती पर निबंध
  • Bhagat Singh पर निबंध
  • Demonetization पर निबंध
  • कृषि पर निबंध
  • क्रिकेट पर निबंध
  • हॉकी पर निबंध
  • अनुशासन पर निबंध
  • अनुशासन का महत्व पर निबंध
  • जऩ संखया विसफोट पर निबंध
  • दरिद्रता पर निबंध
  • भारत में गरीबी पर निबंध
  • मोबाइल फोन का उपयोग पर निबंध
  • पानी की कमी पर निबंध
  • रेल यात्रा पर निबंध
  • भूमि प्रदुषण पर निबंध पर निबंध
  • पर्यावरण संरक्षण पर निबंध
  • भारतीय सेना पर निबंध
  • इंटरनेट का उपयोग पर निबंध
  • चिड़ियाघर पर निबंध
  • संतुलित आहार पर निबंध
  • रक्त दान पर निबंध
  • डिजिटल इंडिया पर निबंध
  • दशहरा निबंध पर निबंध
  • ऊर्जा सरंक्षण पर निबंध
  • राष्ट्रीय एकीकरण पर निबंध
  • रेलवे स्टेशन पर निबंध
  • सचिन तेंडुलकर पर निबंध
  • सुनामी पर निबंध
  • स्वास्थ्य और सफ़ाई पर निबंध
  • वन का महत्व पर निबंध
  • Indira Gandhi पर निबंध
  • हंसी बेहतरीन दवा है पर निबंध
  • बास्केटबाल पर निबंध
  • कैरियर के लक्ष्यों पर निबंध
  • शादी पर निबंध
  • मानसिक स्वास्थ्य पर निबंध
  • पानी बचाओ जिंदगी बचाओ पर निबंध
  • अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर निबंध
  • छुट्टी पर निबंध
  • बागवानी पर निबंध
  • शीतकालीन अवकाश पर निबंध
  • मिट्टी प्रदूषण पर निबंध
  • आलोचना पर निबंध
  • इंडिया गेट पर निबंध
  • हरेक निराशा में भी एक उम्मीद की किरण होती है पर निबंध
  • भारतीय संस्कृति और परंपरा पर निबंध
  • एकता में बल है पर निबंध
  • एकता विविधता है पर निबंध
  • वन्यजीव संरक्षण पर निबंध
  • जानवरो के प्रति क्रूरता पर निबंध
  • गूगल पर निबंध
  • नेल्सन मंडेला पर निबंध
  • चूहों और पुरुषों की पर निबंध
  • अंग दान पर निबंध
  • एक बड़े शहर में जीवन पर निबंध
  • आचार विचार पर निबंध पर निबंध
  • भारत में लोकतंत्र पर निबंध
  • सूखा पर निबंध
  • व्यवसाय पर निबंध
  • कचरा प्रबंधन पर निबंध
  • जैव विविधता पर निबंध
  • वनीकरण पर निबंध
  • आर्यभट्ट पर निबंध
  • कन्या भ्रूण हत्या पर निबंध
  • जंक फूड के हानिकारक प्रभाव पर निबंध
  • बारिश के पानी का संग्रहण पर निबंध
  • बिजली बचाओ पर निबंध
  • सोशल मीडिया पर निबंध
  • सामाजिक नेटवर्किंग साइट पर निबंध
  • अखंडता पर निबंध
  • टालमटोल पर निबंध
  • एक भारतीय गांव में जीवन पर निबंध
  • बड़ा शहर में जीवन पर निबंध
  • जनसंख्या वृद्धि पर निबंध
  • कैंसर पर निबंध
  • विश्व जनसंख्या दिवस पर निबंध
  • ग्रीनहाउस प्रभाव पर निबंध
  • एकता की मूर्ति पर निबंध
  • ट्रैफ़िक जाम पर निबंध
  • Beti Bachao Beti Padhao पर निबंध
  • अच्छे शिष्टाचार का महत्व पर निबंध
  • अच्छी आदतें पर निबंध
  • लाल किला पर निबंध
  • एकता पर निबंध
  • साइबर सुरक्षा पर निबंध
  • हरित क्रांति पर निबंध
  • स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती पर निबंध
  • भारत पर निबंध
  • अतुल्य भारत पर निबंध
  • मेक इन इंडिया पर निबंध
  • बाघ बचाओ पर निबंध
  • सर्जिकल स्ट्राइक पर निबंध
  • ट्रिपल तालक पर निबंध
  • एक अच्छा दोस्त पर निबंध
  • हमारे जीवन में दोस्तों का महत्व पर निबंध
  • जवानी पर निबंध
  • क्या प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगना चाहिए पर निबंध
  • राष्ट्रवाद पर निबंध
  • ज्ञान पर निबंध
  • यातायत नियम पर निबंध
  • ग्लोबल वार्मिंग के प्रभाव पर निबंध
  • मजदूर दिवस पर निबंध
  • मौलिक अधिकार पर निबंध
  • मधुमेह पर निबंध
  • मान पर निबंध
  • सौर मंडल पर निबंध
  • राष्ट्रीय संविधान दिवस पर निबंध
  • अच्छी माँ पर निबंध
  • मां पर निबंध
  • धर्मनिरपेक्षता पर निबंध
  • हमारे जीवन में वृक्षों का महत्व पर निबंध
  • सिटी लाइफ बनाम विलेज लाइफ पर निबंध
  • संचार का महत्व पर निबंध
  • प्रकृति का संरक्षण पर निबंध
  • मैन बनाम मशीन पर निबंध
  • भारतीय अर्थव्यवस्था पर निबंध
  • माताओं पर निबंध
  • मां का प्यार पर निबंध
  • राष्ट्रीय एकता का महत्व पर निबंध
  • काला धन पर निबंध
  • एड्स पर निबंध
  • निष्पक्ष पर निबंध
  • अस्पृश्यता पर निबंध
  • सेल्फ डिसिप्लिन पर निबंध
  • आतंक पर निबंध
  • वैश्विक आतंकवाद पर निबंध
  • जैव विविधता का संरक्षण पर निबंध
  • अम्ल वर्षा पर निबंध
  • समाचार पत्र और इसके उपयोग पर निबंध
  • विश्व स्वास्थ्य दिवस पर निबंध
  • प्राकृतिक संसाधनों का संरक्षण पर निबंध
  • परिवार के साथ एक पिकनिक पर निबंध
  • भारतीय विरासत पर निबंध
  • भारत में महिलाओं की स्थिति पर निबंध
  • बाल मन का पिता है पर निबंध
  • पढ़ना अच्छी आदत है पर निबंध
  • प्लास्टिक का थैला पर निबंध
  • भारत में आतंकवाद पर निबंध
  • लाइब्रेरी और इसके उपयोग पर निबंध
  • मंगल पर जीवन पर निबंध
  • शहरीकरण पर निबंध
  • दिवाली के कारण प्रदूषण पर निबंध
  • भारत का राष्ट्रीय ध्वज पर निबंध
  • व्यावसायिक शिक्षा पर निबंध
  • वृक्षारोपण का महत्व पर निबंध
  • मोटापा पर निबंध
  • ग्रीष्म शिविर पर निबंध
  • वाहन का प्रदूषण पर निबंध
  • भारत में महिला शिक्षा पर निबंध
  • भारत में मौसम पर निबंध
  • प्रेस की आज़ादी पर निबंध
  • रिश्वत पर निबंध
  • यातायात में सड़क पर चालकों द्वारा हिंसक रोष व्यक्त करना पर निबंध
  • जाति व्यवस्था पर निबंध
  • पर्यावरण और मानव स्वास्थ्य पर निबंध
  • पर्वतारोहण पर निबंध
  • प्राकृतिक संसाधनों की कमी पर निबंध
  • ईश्वर चंद्र विद्यासागर पर निबंध
  • स्वास्थ्य शिक्षा पर निबंध
  • वनों की कटाई के प्रभाव पर निबंध
  • स्कूल के बाद का जीवन पर निबंध
  • भारत में भुखमरी पर निबंध
  • Jan Dhan Yojana पर निबंध
  • निजीकरण का प्रभाव पर निबंध
  • लत पर निबंध
  • भारत चुनाव आयोग पर निबंध
  • चुनाव और लोकतंत्र पर निबंध
  • ग्लोबल वार्मिंग की रोकथाम पर निबंध
  • जीवन में सिनेमा का प्रभाव पर निबंध
  • सुभास चंद्र बोस पर निबंध
  • दहेज प्रथा पर निबंध
  • गणेश चतुर्थी महोत्सव पर निबंध
  • भारत बनाने में विज्ञान की भूमिका पर निबंध
  • महासागरों पर ग्लोबल वार्मिंग का प्रभाव पर निबंध
  • त्योहारों के कारण प्रदूषण पर निबंध
  • Ambedkar Jayanti पर निबंध
  • एक भारत श्रेष्ठ भारत पर निबंध
  • भारत में परिवार नियोजन पर निबंध
  • लोकतंत्र बनाम तानाशाही पर निबंध
  • भारत के राष्ट्रीय त्यौहार पर निबंध
  • श्री अरबिंदो पर निबंध
  • भारत में जातिवाद पर निबंध
  • अंग की तस्करी पर निबंध
  • ग्लोबल वार्मिंग के परिणाम पर निबंध
  • ग्लोबल वार्मिंग में मानव गतिविधियों की भूमिका पर निबंध
  • भारत में महिलाओं के मुद्दों और समस्याओं का सामना करना पड़ा पर निबंध
  • देश में न्यायपालिका की भूमिका आज पर निबंध
  • Sugamya Bharat Abhiyan पर निबंध
  • PUBG मोबाइल गेम की लत पर निबंध
  • राष्ट्र निर्माण में युवाओं की भूमिका पर निबंध
  • जीवन / पृथ्वी में ऑक्सीजन और पानी का मूल्य पर निबंध
  • भारत में किसान आत्महत्या पर निबंध
  • स्टार्ट-अप इंडिया पर निबंध
  • पटाखों के कारण प्रदूषण पर निबंध
  • सैनिकों का जीवन पर निबंध
  • बाल श्रम पर निबंध
  • गुलामी पर निबंध
  • बालिका बचाओ पर निबंध
  • जिंदगी पर निबंध पर निबंध
  • सुबह की सैर पर निबंध
  • माई स्कूल फेटे पर निबंध
  • वैश्विकरण या ग्लोबलाइजेशन पर निबंध

Essays - निबंध

How to write an ap english essay, इंडिया गेट पर निबंध – essay on india gate in hindi, जनसंख्या वृद्धि पर निबंध – essay on population growth in hindi, 10 lines on diwali in hindi – दिवाली पर 10 लाइनें पंक्तियाँ, essay on my school in english, essay on women empowerment in english, essay on mahatma gandhi in english, essay on pollution in english.

  • Privacy Policy

Voice speed

Text translation, source text, translation results, document translation, drag and drop.

essay writing definition in hindi

Website translation

Enter a URL

Image translation

Question and Answer forum for K12 Students

True Friend Essay In Hindi | सच्चा मित्र पर निबन्ध

True Friend Essay In Hindi सच्चा मित्र पर निबन्ध

  • मनुष्य सामाजिक प्राणी
  • सच्चा मित्र
  • सच्चे मित्र के उदाहरण
  • मित्र बनाना

मनुष्य अकेला नहीं रह सकता। उसे ऐसे व्यक्ति की आवश्यकता होती है जिसके समक्ष वह अपने मन के भाव प्रकट कर सके। वह जिसके साथ सुख के आनंद भरे क्षण व्यतीत कर सके। उसके दुःख और कष्टमय जीवन में जो उसका सहायक हो। वह परिवार के सदस्यों के साथ जी सकता है परंतु मन के समस्त भावों को उन पर प्रकट नहीं कर सकता। वह केवल मित्र के साथ ही मन की भावनाएँ प्रकट कर सकता है। इसलिए प्रत्येक व्यक्ति अपने जीवन में मित्र बनाता है।

मित्र को भाई से भी बढ़कर माना जाता है। सच्चे मित्र के विषय में प्रसिद्ध विद्वान भर्तृहरि ने सत्य ही लिखा है-

पापन्निवारयति, योजयते हिताय गुह्यानि गुह्याति गुणान प्रकट करोति। आपद्गतं च न जहाति, ददाति काले, सन्मित्र लक्षणमिदं प्रवदंति संतः।

सच्चा मित्र पापकर्म करने से रोकता है। कल्याण के कार्यों में प्रवृत्त करता है। दोषों को छिपाता है। गुणों को प्रकट करता है। विपत्ति के समय साथ नहीं छोड़ता। आवश्यकता पड़ने पर सहायता करता है।

सच्चा मित्र अपने मित्र का हितैषी होता है। वह अपने मित्र को उचित परामर्श देकर सुपथ पर ले जाता है। वह मित्र के अवगुणों को दूर करता है। उसका एकमात्र लक्ष्य मित्र को अधिक-से-अधिक लाभ पहुंचाना होता है। मित्रता पावन संबंध है। इसमें किसी प्रकार का स्वार्थ नहीं होता।

बाल्यकाल से ही मित्र बनाने की भावना जाग्रत होने लगती है। बालक-बालिकाएँ अपनी आयु के मित्र और सखियाँ बनाते हैं। कक्षा के सहपाठियों को मित्र बनाते हैं। मित्र बनाने की प्रक्रिया जीवनपर्यंत चलती रहती है। मित्र अवश्य बनाने चाहिए परंतु मित्र का चयन सावधानी से करना चाहिए। मित्र बनाने से पूर्व उसके गुणों, अवगुणों, स्वभाव और रुचियों को जान लेना चाहिए। उसकी आर्थिक स्थिति समान स्तर की होनी चाहिए। सच्चा मित्र नाविक के समान होता है जो मँझदार में फँसी नाव को किनारे पर लगा देता है।

श्री राम सीता की खोज करने निकले तो उन्होंने सुग्रीव से मित्रता की। श्री राम ने सुग्रीव को बालि के भय से मुक्त कराया तो सुग्रीव ने हनुमान के द्वारा सीता की खोज की। महाकवि तुलसीदास ने इस प्रसंग में सच्चे मित्र को परिभाषित करते हुए ‘रामचरितमानस’ में लिखा है-

कुपथ निवारि सुपंथ चलावा। गुन प्रगटै अवगुनहि दुरावा॥ देत लेत मन संक न धरई। बल अनुमान सदा हित करई॥ विपत्तिकाल कर सतगुन नेहा। श्रुति कह संत मित्र गुन एहा॥

श्री कृष्ण और सुदामा सहपाठी थे। श्री कृष्ण राजा बन गए। सुदामा निर्धनता का कष्टमय जीवन व्यतीत करने लगा। जब सुदामा कृष्ण के पास गया तो श्री कृष्ण ने मित्रता का निर्वाह करते हुए सुदामा को गले से लगाया। उसे राजसिंहासन पर अपने साथ बिठाया। उसका मान-सम्मान किया। उसके भवन को महल-सा भव्य बनवाकर उसे निर्धनता के अभिशाप से मुक्त कर दिया। कर्ण ने मृत्युपर्यंत दुर्योधन का साथ देकर मित्रता का निर्वाह किया था। सच्चा मित्र स्वयं कष्ट सह लेता है परंतु अपने मित्र पर आँच नहीं आने देता। वह मित्र के लिए छायादार वृक्ष बनकर उसे धूप और गर्म हवाओं से बचाता है। मित्रता की कसौटी विपत्तिकाल में होती है-

विपत्ति कसौटी जे कसै सोई साँचे मीत।

सच्चा मित्र वह होता है जो विपत्ति आने पर दृढ़ चट्टान के समान मित्र का साथ देता है। वह मित्र के सभी प्रकार के कष्टों को बाँट लेता है। प्रसिद्ध साहित्यकार रामचंद्र शुक्ल के अनुसार-‘जीवन में मित्रों की भीड़ एकत्र करने से श्रेष्ठ होता है एक ही मित्र बनाना। वह सच्चा मित्र होना चाहिए।’

सच्चे मित्र पर आँख मूंदकर विश्वास करना चाहिए। संदेह मित्रता का नाश कर देता है। मित्रता की दीवार में संदेह की तनिक-सी चोट से दरार पड़ जाती है।

मित्रता भावनाओं में बहकर नहीं अपितु भली-भाँति सोच-विचारकर करनी चाहिए। प्रायः देखा जाता है कि लोग बिना-सोचे समझे मित्र बनाते चले जाते हैं। ऐसे लोगों को बाद में पछताना पड़ता है। परखकर ही मित्र बनाना चाहिए। सच्चा मित्र अमूल्य धरोहर होता है। सौभाग्यशालियों को ही सच्चे मित्र मिलते हैं। ऐसे मित्रों पर गर्व करना चाहिए।

IMAGES

  1. Write easy Hindi essay on My School 🏫 Hindi paragraph on my school

    essay writing definition in hindi

  2. 14 Tips For Writing An Essay In Hindi

    essay writing definition in hindi

  3. One page hindi writing || Write and improve hindi writing

    essay writing definition in hindi

  4. Hindi essays in hindi language for students in 2021

    essay writing definition in hindi

  5. Write an Essay on Importance Of Hindi Language

    essay writing definition in hindi

  6. List Of Topics For Essay Writing In Hindi

    essay writing definition in hindi

VIDEO

  1. हिंदी निबंध।अनुशासन ।Easy Hindi Essay ।Discipline Essay in Hindi

  2. ESSAY-WRITING

  3. Essay Writing||Lecture-1||Unit-1||Academic Writing||English-Vi||Bsn 6th Semester||In Urdu/English

  4. Essay writing on Education in English || What is Education in English

  5. Learn English in Hindi : 5 Essay Writing Topics

  6. 14- Definition Essay nasıl yazılır? / How to write a Definition Essay / Türkçe Anlatım

COMMENTS

  1. निबंध लेखन, हिंदी में निबंध| Hindi Essay Writing topics

    निबंध की परिभाषा (Definition of essay) अपने मानसिक भावों या विचारों को संक्षिप्त रूप से तथा नियन्त्रित ढंग से लिखना 'निबन्ध' कहलाता है।. दूसरे ...

  2. हिंदी में निबंध (Essay in Hindi/ Hindi me Nibandh)

    हिंदी में निबंध (Essay in Hindi/ Hindi me Nibandh): हिंदी में निबंध कैसे लिखते हैं और निबंध लिखते समय किन बिंदुओं को ध्यान में रखना चाहिए इसकी जानकारी यहां दी गई है।

  3. Hindi Essay (Hindi Nibandh)

    भ्रष्टाचार पर निबंध (Corruption Essay in Hindi) महिला सशक्तिकरण पर निबंध - (Women Empowerment Essay) बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध (Beti Bachao Beti Padhao) गरीबी पर निबंध (Poverty Essay in Hindi)

  4. हिंदी निबंध (Hindi Nibandh / Essay in Hindi)

    हिंदी में निबंध (Essay in Hindi) - छात्र जीवन में विभिन्न विषयों पर हिंदी निबंध (essay in hindi) लिखने की आवश्यकता होती है। हिंदी निबंध लेखन (essay writing in hindi) के कई फायदे हैं। हिंदी ...

  5. How to Write an Essay in Hindi

    Important Tips for Writing Essay in Hindi - निबंध लिखने के लिए महत्वपूर्ण सुझाव. How To Write An Essay in Hindi Essential Steps - निबंध लेखन में आवश्यक कदम. चरण 1: निबंध लिखने से पहले - Before Writing ...

  6. निबंध लेखन का तरीका

    Definition of essay In Hindi (निबंध की परिभाषा ) निबंध शब्द नि और बंध दो शब्दों से मिलकर बना हैं, जिसका अर्थ होता हैं नियमों से बंधी हुई रचना या लेख.

  7. एक उत्तम निबंध कैसे लिखें? How to write an essay in Hindi

    पाठ्यक्रम में निबन्ध - लेखन को क्यों समाहित किया गया : 1. विद्यार्थी अपने विचारों को एकत्र करना सीख पाए।. 2. विचारों को संतुलित तरीके से ...

  8. 14 Tips For Writing An Essay In Hindi

    Tips for Essay Writing in Hindi - निबंध लिखते समय इन का ध्यान रखना चाहिए-निबंध-लेखन का न तो कोई सिद्धांत है और न नियम। यह एक कला है, जो बार-बार लेखन-प्रयास ...

  9. Tips To Write Essay In Hindi

    Tips To Write Essay In Hindi . Tips To Write Essay In Hindi (निबंध लिखने का तरीका) By 02nd Aug, 2018 | 03:05 pm. Share

  10. [Solved] Guide To Writing A Hindi Essay

    Writing a Hindi essay doesn't have to be intimidating. Follow this guide for an introduction into the world of writing in one of India's oldest and most beautiful languages. ... meaning new approaches besides old must also be taken into consideration when conducting valid research related to how to essay writing in Hindi.. 3. Structuring ...

  11. Hindi Essay

    500+ विषयों पर हिंदी निबंध. 18/08/2023 Rahul Singh Tanwar. Hindi Essay Writing: विद्यार्थी जीवन में निबंध लेखन एक अहम हिस्सा है। विद्यार्थी के जीवन में हर बार ऐसे अवसर ...

  12. Hindi Essay

    An Hindi essay is the part of the Hindi curriculum for the students in school. Some colleges, or higher level exams also have essay writing as a part of their curriculum. Many government examinations that have Hindi as a subject, have essay writing as an important questions with a good weightage of marks. National level exams like UPSC have ...

  13. essay writing

    What is essay writing meaning in Hindi, essay writing translation in Hindi, essay writing definition, pronunciations and examples of essay writing in Hindi. essay writing का हिन्दी मीनिंग, essay writing का हिन्दी अर्थ, essay writing का हिन्दी अनुवाद. Advertisement ...

  14. मॉडल निबंध

    Reach Us 12, Main AB Road, Bhawar Kuan, Indore, Madhya Pradesh, 452007 641, 1 st Floor, Mukherjee Nagar, Delhi-110009 ; 21, Pusa Rd, WEA, Karol Bagh, Delhi-110005

  15. ESSAY

    ESSAY translate: निबंध, किसी विषय पर छात्रों द्वारा लिखा गया एक लेख. Learn more in the Cambridge English-Hindi Dictionary.

  16. Essay in Hindi Language

    Essay in Hindi - निबंध : 200 + Latest and Easy Hindi Essays for Students of all Classes. in 100, 150, 200, 250, 300, 350, 400, 450, 500, 600, 700, 800, 900 ...

  17. essay

    An essay is, generally, a piece of writing that gives the author's own argument, but the definition is vague, overlapping with those of a letter, a paper, an article, a pamphlet, and a short story. Essays have been sub-classified as formal and informal: formal essays are characterized by "serious purpose, dignity, logical organization, length," whereas the informal essay is characterized by ...

  18. 500+ विषयों पर हिंदी निबंध

    खुशी पर निबंध - Essay on Happiness in Hindi. जवाहरलाल नेहरू पर निबंध - Jawaharlal Nehru Essay in Hindi. किसान पर निबंध - Essay on Farmer in Hindi. विज्ञान पर निबंध - Essay on Science in Hindi. जल का महत्व ...

  19. हिंदी का महत्व पर निबंध

    Hindi Ka Mahatva Par Nibandh Hindi Essay . हिंदी का महत्व (Importance of Hindi ) Par Nibandh Hindi mein. जहां अंग्रेजी अधिकांश देशों में व्यापक रूप से बोली जाती है और इसे दुनिया की शीर्ष दस सबसे अधिक बोली ...

  20. Essay

    Essay. An essay is, generally, a piece of writing that gives the author's own argument, but the definition is vague, overlapping with those of a letter, a paper, an article, a pamphlet, and a short story. Essays have been sub-classified as formal and informal: formal essays are characterized by "serious purpose, dignity, logical organization ...

  21. Google Translate

    Google's service, offered free of charge, instantly translates words, phrases, and web pages between English and over 100 other languages.

  22. True Friend Essay In Hindi

    True Friend Essay In Hindi | सच्चा मित्र पर निबन्ध. सच्चा मित्र संकेत बिंदु: मनुष्य अकेला नहीं रह सकता। उसे ऐसे व्यक्ति की आवश्यकता होती है जिसके ...